March 8, 2021

भारत बंद के दौरान कृषि मंत्री का ट्वीट, कानून को बताया सही, कानून वापिस नहीं लेने के दिए संकेत

भारत बंद के दौरान कृषि मंत्री का ट्वीट, कानून को बताया सही, कानून वापिस नहीं लेने के दिए संकेत

कहा, अराजकवादी तत्वों के भ्रामक प्रचार से बचें किसान

कृषि कानून के खिलाफ आज किसान संगठनों के भारत बंद के दौरान ही केंद्रीय कृषि मंत्री ने ट्वीट कर इन तीनों कानूनों को किसानों के लिए फायदेमंद बताते हुए कहा है कि इन कानूनों से किसानों के जीवन में समृद्धि आएगी और इन कानून के खिलाफ अराजकवादी और विघटनकारी ताकतों द्वारा किए जा रहे भ्रामक प्रचार से बचने को भी कहा है।

भारत बंद के दौरान और किसान संगठनों के साथ 9 दिसंबर बुधवार को होने वाली बैठक से ठीक पहले इस ट्वीट के यही मायने निकाले जा सकते हैं कि सरकार इन कानूनों को वापिस नहीं लेने जा रही है। हालांकि सरकार यह पहले भी साफ़ कर चुकी है और अब केंद्रीय कृषि मंत्री ने एक बार फिर अपने ट्वीट में यह कहा है कि एम.एस.पी. पर पहले की तरह खरीद जारी रहेगी, किसान अपनी उपज एम.एस.पी. पर बेच सकेंगे, मंडियां ख़त्म नहीं होंगी और किसानों के पास अब अपनी उपज मंडियों में बेचने के साथ ही अन्य स्थानों पर अब अपनी उपज बेचने के विकल्प होगा।
इस ट्वीट से कृषि मंत्री ने किसानों को सन्देश देने की कोशिश की है, लेकिन किसान संगठन अब इस ट्वीट से क्या मायने निकालते हैं यह तो अब कल की बैठक में सामने आएगा। हालांकि सरकार किसानों को आश्वाशन दे चुकी है कि वह इन कानूनों में किसानों के अनुसार संशोधन करने को तैयार है, लेकिन किसान संगठन इन तीनों कानूनों को वापिस लेने से कम पर राजी होते अब तक नजर नहीं आए हैं और किसानों का आंदोलन जारी है। अब कल सरकार और किसान संगठनों के बीच होने वाली बैठक पर पूरे देश की नजर होगी की उसमे क्या हल निकलता है