December 5, 2021

रात कम-से-कम एक तिहाई अफ़सर ड्यूटी पर तैनात रहें।किसी भी समय रोस्टर वाले ड्यूटी अफ़सर को वीडियो कॉल करके उसकी लोकेशन चैक कर सकते हैं:सुखजिन्दर सिंह रंधावा

रात कम-से-कम एक तिहाई अफ़सर ड्यूटी पर तैनात रहें।किसी भी समय रोस्टर वाले ड्यूटी अफ़सर को वीडियो कॉल करके उसकी लोकेशन चैक कर सकते हैं:सुखजिन्दर सिंह रंधावा

उप मुख्यमंत्री रंधावा द्वारा अमन-कानून की व्यवस्था और सुचारू बनाने के लिए रात के समय पुलिस को गश्त बढ़ाने के कड़े निर्देश

प्रत्येक आयुक्तालय / जिले में कम-से-कम एक तिहाई गज़टिड अफ़सर रात के समय रहेंगे तैनात

चंडीगढ़, 22 नवंबरः
पंजाब के उप मुख्यमंत्री  सुखजिन्दर सिंह रंधावा ने राज्य में अमन-कानून की व्यवस्था को और सुचारू तरीकेे से लागू करने के लिए रात के समय पुलिस को गश्त बढ़ाने के कड़े निर्देश दिए हैं। इसके साथ ही हर आयुक्तालय / जिले में कम-से-कम एक तिहाई गज़टिड अफ़सरों की तैनाती रोस्टर के अनुसार करने के आदेश दिए हैं जिसकी वह खुद हर रोज़ वीडियो कॉल के द्वारा समीक्षा करेंगे।
आज यहाँ जारी प्रैस बयान में स. रंधावा, जिनके पास गृह विभाग भी है, ने कहा कि उनके ध्यान में आया है कि रात के समय अपेक्षित पुलिस गश्त नहीं की जाती। उन्होंने सभी कमिश्नरों और एस.एस.पीज़ को कहा है कि अपने-अपने आयुक्तालय / जिले में गज़टिड अफसरों की ड्यूटी का रोस्टर बनाया जाये। हर रात कम-से-कम एक तिहाई अफ़सर ड्यूटी पर तैनात रहें। उन्होंने कहा कि वह किसी भी समय रोस्टर वाले ड्यूटी अफ़सर को वीडियो कॉल करके उसकी लोकेशन चैक कर सकते हैं। उन्होंने कहा कि राज्य की सुरक्षा के साथ कोई समझौता नहीं किया जायेगा और लापरवाही बरतने वाले अधिकारी के खि़लाफ़ कड़ी कार्रवाई की जायेगी।
प्रमुख सचिव गृह श्री अनुराग वर्मा ने इस संबंधी बाकायदा डी.जी.पी., ए.डी.जी.पी (कानून और व्यवस्था), कमिश्नरों और एस.एस.पीज़ को पत्र जारी करके उप मुख्यमंत्री के निर्देशों का पूर्ण रूप से पालन करने के लिए कहा है। उन्होंने कहा कि कमिश्नर और एस.एस.पीज़ को यह भी हिदायत की गई है कि जो रोस्टर बनाया जायेगा, उसकी कॉपी ए.डी.जी.पी (कानून और व्यवस्था) को भेजी जायेगी, जो आगे रोस्टर की कॉपियों को इकट्ठा करके रोज़ाना शाम 5 बजे उप मुख्यमंत्री, गृह सचिव और डी.जी.पी. को भेजेंगे।