April 10, 2021

किसान संगठनों ने की घोषणा जब तक मोदी सरकार कृषि कानून वापस नहीं लेगी आंदोलन जारी रहेगा

किसान संगठनों ने की घोषणा जब तक मोदी सरकार कृषि कानून वापस नहीं लेगी आंदोलन जारी रहेगा

संयुक्त किसान मोर्चा भारत के घटक जिसमें पंजाब के 30 किसान संगठन है , उनकी आज 3 घंटे हंगामी बैठक हुई । जिसकी प्रधानगी जगमोहन सिंह प्रदेश महासचिव भारतीय किसान यूनियन डकौंदा ने की । इस बैठक में घोषणा की गई कि जब तक मोदी सरकार कृषि कानून वापस नहीं लेगी, तब तक किसानो का आंदोलन जारी रहेगा ।


सभी सदस्यों ने एक स्वर में यह बात रखी कि यह धरने प्रदर्शन किसी एक राज्य धर्म जाति वर्ग भाषा से संबंधित नहीं है । यह लड़ाई देशभर के सभी लगभग 476 किसान संगठनों की संयुक्त लड़ाई है , जो के सभी मिलकर मोदी सरकार की जन विरोधी नीतियों के खिलाफ लड़ाई लड़ रहे हैं । जिसका समर्थन देशभर के मजदूर यूनियन , छात्र , युवा , महिला , बुद्धिजीवी , कर्मचारी व सभी वर्ग कर रहे हैं ।

इन सभी संगठनों का एकमत से कहना है कि जब तक केंद्र की मोदी सरकार 3 किसान और जनविरोधी काले कानून रद्द नहीं करती और प्रस्तावित बिजली संशोधन बिल 2020 . पर्यावरण पर किसान विरोधी अध्यादेश रद्द नहीं करती तब तक आंदोलन जारी रहेगा । पंजाब के किसान संगठनों के नेताओं के अलावा हरियाणा, मध्य प्रदेश , उत्तर प्रदेश, दिल्ली, राजस्थान, तेलगाना आदि किसान संगठनों ने मंच को संबोधित करते हुए व्यवहारिक रुप से बताया कि यह आंदोलन देश भर की आम जनता का है।