August 5, 2021

एक बड़ा सवाल :  सरकार की जिस नाकामी पर सिद्धू सवाल उठा रहे, प्रधान बनने के बाद कैसे करेंगे उन्ही नाकामियों का बचाव

एक बड़ा सवाल :  सरकार की जिस नाकामी पर सिद्धू सवाल उठा रहे, प्रधान बनने के बाद कैसे करेंगे उन्ही नाकामियों का बचाव


Update Punjab Desk
: नवजोत सिद्धू को लेकर लगातार चर्चा चल रही है कि कांग्रेस हाईकमान सिद्धू को पंजाब कांग्रेस का प्रधान बनाने जा रही है। कहीं ऐसा तो नहीं कि हाईकमान इसके जरिए सिद्धू को बलि का बकरा बनाने जा रही है। क्योंकि पंजाब की अपनी ही कांग्रेस सरकार की जिन नाकामियों पर सिद्धू अब तक सवाल उठाते आ रहे हैं। प्रधान बनने के बाद सिद्धू को उन सभी नाकामियों पर सरकार का बचाव करना होगा।
नवजोत सिद्धू ने लिए पंजाब कांग्रेस का अध्यक्ष बनना कांटों का ताज साबित हो सकता है। पंजाब के मुख्य मुद्दे बेअदबी, अवैध माईनिंग, बिजली संकट और पावर परचेज एग्रीमेंट, नशे का कारोबार, बेरोजगारी और भ्रष्टाचार पर सिद्धू लगातार अपनी ही सरकार की नाकामी पर सवाल उठाते आ रहे हैं। अब अगर उन्हें प्रधान बना दिया गया तो इन सभी मुद्दों पर अब वही जवाबदेह होंगे नाकि कैप्टन। 2022 विधान सभा चुनावों में नवजोत सिंह सिद्धू कैसे जनता का इन्ही मुद्दों को लेकर सामना करेंगे। इन चुनावों में सिद्धू अगर पंजाब सरकार की कोई उपलब्धि बताते हैं तो वह उनकी नहीं बल्कि कैप्टन के नाम होगी। लेकिन नाकामियों पर कप्तान की बजाय सिद्धू को जवाब देना होगा।
पार्टी हाईकमान अगर सिद्धू की ताजपोशी करता है और उनके नेतृत्व में 2022 का चुनाव लड़ा जाएगा तो चुनावी नतीजों के लिए सिद्धू ही जिम्मेदार ठहराए जाएंगे, नाकि पार्टी हाईकमान और कैप्टन। ऐसे में सिद्धू के लिए आगे का रास्ता कांटों भरा साबित हो सकता है।