January 19, 2022

प्रशासनिक, वित्त एवं न्यायिक शक्तियों का प्रयोग करें पंचायतें – कंवर

प्रशासनिक, वित्त एवं न्यायिक शक्तियों का प्रयोग करें पंचायतें – कंवर
प्रशासनिक, वित्त एवं न्यायिक शक्तियों का प्रयोग करें पंचायतें – कंवर
ऊना में आयोजित पंच परमेश्वर सम्मेलन में बोले ग्रामीण विकास मंत्री, सतपाल सिंह सत्ती भी रहे उपस्थित
ऊना, 6 दिसंबरः पंचायत प्रतिनिधियों को प्रशासनिक, वित्त एवं न्यायिक शक्तियों का प्रयोग करना चाहिए, ताकि छोटे-छोटे झगड़ों का निपटारा पंचायत स्तर पर ही सके तथा लोगों को थानों व कोर्ट के चक्कर न काटने पड़ें। यह बात ग्रामीण विकास, पंचायती राज, कृषि, मत्स्य तथा पशु पालन मंत्री वीरेंद्र कंवर ने आज ऊना में आयोजित पंच परमेश्वर सम्मेलन में कही। इससे पूर्व छठे राज्य वित्तायोग सतपाल सिंह की उपस्थिति में वीरेंद्र कंवर ने 4.78 करोड़ की लागत से बनने वाले बीडीओ कार्यालय का भूमिपूजन भी किया।
कंवर ने कहा कि पंचायत प्रतिनिधि सरकार की कल्याणकारी योजनाओं की जानकारी रखें तथा पात्र व्यक्तियों तक उनका लाभ पहुंचाना सुनिश्चित करें। उन्होंने कहा कि पंचायतें गांव की सरकार है तथा ग्रामीण क्षेत्र में विकास का आधार भी हैं। सभी पंचायतें अपने-अपने क्षेत्र को एक आदर्श के रुप में विकसित करने का संकल्प लें, जिसमें हिमकेयर, आयुष्मान भारत जैसी योजनाओं का लाभ शत-प्रतिशत पात्र व्यक्तियों तक पहुंचे। वीरेंद्र कंवर ने पंचायती राज विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिए कि अच्छा काम करने वाली पंचायतों के प्रतिनिधियों को भ्रमण करवाया जाए, ताकि वह प्रेरणा लेकर अपने क्षेत्र में विकास की गति को आगे बढ़ाएं।
ग्रामीण विकास एवं पंचायती राज मंत्री ने कहा कि प्रदेश में 17 हजार से अधिक महिला स्वयं सहायता समूह हैं, जो विभिन्न उत्पाद बनाने से जुड़े हैं। उन्होंने कहा कि उनके उत्पादों को बाजार उपलब्ध करवाने के लिए एमेजॉन जैसे ई-कॉमर्स प्लेटफॉर्म से जोड़ा गया है। जिला ऊना में स्वयं सहायता समूहों के तैयार उत्पादों को सोमभद्रा ब्रांड नेम से प्रचारित किया जा रहा है, ताकि उन्हें उनकी मेहनत का अच्छा मूल्य प्राप्त हो सके। उन्होंने कहा कि महिला स्वयं सहायता समूहों को बांस के उत्पाद बनाने का प्रशिक्षण दिया गया है और बौल में बैंबू विलेज बनाया जा रहा है, जिसे अगले वर्ष अप्रैल में आरंभ किया जाएगा।
अनस्पेंट मनी को खर्च करें पंचायतें
कार्यक्रम में विशेष रूप से उपस्थित छठे राज्य वित्तायोग के अध्यक्ष सतपाल सिंह सत्ती ने कहा कि पंचायतों को अपस्पेंट मनी को खर्च कर विकास में लगाने को प्राथमिकता देनी चाहिए। उन्होंने कहा कि यह जनता का पैसा है, जिसका लाभ जनता को मिलना ही चाहिए। सत्ती ने कहा कि केंद्र सरकार पंचायतों को भरपूर पैसा उपलब्ध करवा रही है, लेकिन इस पैसे का सदुपयोग होना चाहिए। पंचायतों में अच्छे पंचायत घर बनें, इसके लिए एस्टीमेट तैयार करें। उन्होंने कहा कि ग्रामीण विकास एवं पंचायती राज मंत्री वीरेंद्र कंवर जिला ऊना से ही है, ऐसे में उनसे भरपूर मदद लें।
सतपाल सिंह सत्ती ने कहा कि प्रदेश के इतिहास में पहली बार पंचायत प्रतिनिधियों के सम्मेलन का आयोजन हो रहा है, ताकि उन्हें सरकारी कार्यक्रमों की जानकारी मिल सके। उन्होंने कहा कि जानकारी हो तो पंचायत भी शहरों से आगे निकल सकती हैं। मनरेगा, स्वच्छ भारत मिशन तथा अन्य योजनाओं को मिलाकर ग्रामीण क्षेत्रों का विकास किया जा सकता है।
यह रहे उपस्थित
इस अवसर पर जिला परिषद अध्यक्ष नीलम कुमारी, जिला भाजपा अध्यक्ष मनोहर लाल शर्मा, पंचायत समिति ऊना के अध्यक्ष जसपाल, सह निदेशक पंचायती राज विभाग सतीश शर्मा, उप-निदेशक पशु पालन विभाग डॉ. जय सिंह सेन, पीओ डीआरडीए संजीव ठाकुर सहित अन्य अधिकारी, जिला परिषद सदस्य, पंचायत समिति सदस्य, प्रधान, उप प्रधान, वार्ड सदस्य उपस्थित रहे।