January 21, 2022

जून 2021 के बाद आज जिला ऊना में कोविड संक्रमण के एक्टिव केस 500 के पार पहुंचे

जून 2021 के बाद आज जिला ऊना में कोविड संक्रमण के एक्टिव केस 500 के पार पहुंचे
जून 2021 के बाद जिला ऊना में कोविड संक्रमण के एक्टिव केस 500 के पार पहुंचे
एक सप्ताह में कोरोना संक्रमण दर दो प्रतिशत से बढ़कर 11 प्रतिशत पहुंची
ऊना, 12 जनवरीः जिला ऊना में कोरोना संक्रमण तेज़ी से फैलना शुरू हो गया है। जून 2021 के बाद जिला ऊना में आज कोविड संक्रमण के एक्टिव केस पहली बार 500 के पार पहुंच गए। आज जिला ऊना में एक्टिव केस की संख्या 505 हो गई है, जबकि 155 आरटीपीसीआर टेस्ट की रिपोर्ट का इंतजार है। इससे पहले जून 2021 में एक्टिव केस 879 थे, जबकि अक्तूबर 2021 को यह संख्या 483 रही थी। आज जिला में हुए रैट टेस्ट में 108 व्यक्ति कोरोना संक्रमित पाए गए। जिला में पिछले एक सप्ताह के भीतर ही कोरोना वायरस के संक्रमण की दर भी दो प्रतिशत से बढ़कर 11 प्रतिशत तक पहुंच चुकी है। चार जनवरी को जिला ऊना में संक्रमण दर 2.26 प्रतिशत, पांच जनवरी को 2.27, छह जनवरी को 2.67 प्रतिशत, 7 जनवरी को 2.02 प्रतिशत, आठ जनवरी को 4.83 प्रतिशत, नौ जनवरी को 6.04 प्रतिशत, दस जनवरी को 6.23 प्रतिशत तथा 11 जनवरी को 11.01 प्रतिशत हो गई।
जिला ऊना के लिए राहत की बात है कि अभी तक कोरोना वायरस के ओमिक्रॉन वेरिएंट का कोई भी मामला सामने नहीं आया है। विदेश यात्रा से लौटे 6 व्यक्ति कोरोना संक्रमित पाए गए हैं तथा जीनोम सिक्वेंसिंग के लिए उनके सैंपल भेजे गए हैं, जिनकी रिपोर्ट का इंतजार है।
सीएमओ ऊना डॉ. रमण कुमार शर्मा ने कहा “कोरोना संक्रमण के मामले जिला ऊना में लगातार बढ़ रहे हैं। संक्रमण की इस लहर को रोकने के लिए आवश्यक है कि सभी अनुशासन में रहकर नियमों का पालन करें। सार्वजनिक स्थानों पर उचित दूरी को सुनिश्चित करें और मास्क अवश्य लगाएं। अगर किसी को कोरोना संक्रमण से मिलते जुलते लक्षण हैं, तो अपना कोविड टेस्ट करवाएं। अनुशासन में रहकर ही कोरोना की इस लहर से हम बाहर निकल सकते हैं।”
तीन दिन में1135 को लगी प्रिकॉशन डोज़
कोरोना संक्रमण की रोकथाम के लिए जहां जिला प्रशासन के अधिकारी फील्ड में उतर कर विभिन्न स्थानों का निरीक्षण कर रहे हैं, वहीं 10 जनवरी से जिला ऊना में प्रिकॉशन डोज़ लगना आरंभ हो गई है। अब तक जिला में 1135 स्वास्थ्य कर्मियों को प्रिकॉशन डोज़ दी जा चुकी है। प्रिकॉशन डोज़ अभी तक स्वास्थ्य कर्मियों व फ्रंटलाइन वर्कर्स के साथ-साथ 60 वर्ष से अधिक आयु के ऐसे व्यक्तियों को निशुल्क दी जा रही है, जो किसी गंभीर बीमारी से जूझ रहे हैं। प्रिकॉशन डोज़ बूस्टर डोज़ के नौ माह के बाद ही ली जा सकती है। इसके लिए 18 प्लस वर्ग के लिए बनाए गए टीकाकरण केंद्र पर अपना मोबाइल व आधार कार्ड अथवा वैक्सीनेशन के डबल डोज़ का प्रमाण पत्र साथ ले जाना आवश्यक है।
वहीं जिला में 15-18 वर्ष आयुवर्ग के किशोरों का टीकाकरण भी जारी है। बुधवार को 1086 युवाओं को कोवैक्सीन की डोज़ दी गई, जिनमें से सरकारी स्कूलों के 396, निजी स्कूलों के 95 तथा 595 अन्य किशोरों को वैक्सीन की प्रथम खुराक दी गई।
उपायुक्त ऊना राघव शर्मा ने कहा कि जिला ऊना में कोरोना वायरस के बढ़ते संक्रमण को रोकने के लिए पाबंदियां लगाई हैं। जिला में सोमवार से शुक्रवार तक सभी दुकानें, बाजार व मॉल रोजाना शाम साढ़े छह बजे के बाद बंद करने और शनिवार व रविवार को बाजार पूरी तरह से बंद रखने के निर्देश दिए गए हैं। इसके अतिरिक्त जिला में रात्रि 10 बजे से सुबह 5 बजे तक नाइट कर्फ्यू भी लगाया गया है। सभी जिलावासियों से सहयोग की आशा है। उन्होंने कहा कि पहले भी जिला प्रशासन को सभी वर्गों का सहयोग मिलता रहा है और आगे भी इसी प्रकार के सहयोग की उम्मीद है।

आरएच आने की वजाय नजदीकी स्वास्थ्य केंद्र में करवायें जांच: सीएमओ

ऊना, 12 जनवरी: मुख्य चिकित्सा अधिकारी डाॅ रमन कुमार शर्मा ने जानकारी देते हुए बताया कि जिला ऊना में कोरोना महामारी का प्रसार बहुत तेजी से बढ़ रहा है। जिसके चलते क्षेत्रीय अस्पताल ऊना में कार्यरत डॉक्टर तथा अन्य स्टाफ के सदस्य भी कोरोना की चपेट में आ रहे हैं। इससे आम जनता या मरीजों को भी कोरोना संक्रमण की चपेट में आ सकते हैं। उन्होंने कहा कि अस्पताल में पर्ची बनवाने के लिए या चेकअप के लिए लम्बी कतारें लग रही है जिससे संक्रमण और तेजी से बढ़ने की संभावना रहती है। डाॅ रमन कुमार शर्मा ने आम जनता से अपील की कि आम बीमारियों के लिए अस्पताल में आने की वजाय अपने नजदीकी स्वास्थ्य केंद्र में ही जाँच करवाएं। बेहद ज्यादा जरूरी होने पर ही क्षेत्रीय अस्पताल में आएं।
डाॅ रमन शर्मा ने कहा कि देखा जा रहा है कि कोविड नियमों की अनदेखी और लापरवाही के चलते कोरोना मामलें बढ़ रहे है। कोरोना के बढ़ते  मामलों को देखते हुए हर वर्ग के लोगों को पूरी सावधानी बरतनी चाहिए। कोरोना नियमों का कढाई से पालन करें। भीड़-भाड़ जगहों पर जाने से परहेज़ करें। घर से निकलते समय मास्क लगाना, समय पर हाथ धोना और साथ ही शारीरिक दूरी जैसे मादंडों का कड़ाई से पालन करें।
-0-