May 12, 2021

हरियाणा सरकार ने कोविड-19 से संबंधित तैयारियों की निगरानी के लिए प्रदेश के सभी 22 जिलों में वरिष्ठ आईएएस अधिकारियों की तैनाती

हरियाणा सरकार ने कोविड-19 से संबंधित तैयारियों की निगरानी के लिए प्रदेश के सभी 22 जिलों में वरिष्ठ आईएएस अधिकारियों की तैनाती
  • चंडीगढ़, 1-हरियाणा सरकार ने कोविड-19 से संबंधित तैयारियों की निगरानी के लिए प्रदेश के सभी 22 जिलों में वरिष्ठ आईएएस अधिकारियों की तैनाती की है। ये अधिकारी, उन्हें सौंपे गए जिलों में अपने दौरे या प्रवास के दौरान सरकारी और निजी स्वास्थ्य केन्द्रों या संस्थानों में बैड की उपलब्धता बढ़ाने, उनमें पर्याप्त स्वास्थ्य देखभाल बुनियादी ढांचे जैसे कि-आइसोलेशन बैड, ऑक्सीजन सुविधा वाले बैड, आईसीयू बैड, वेंटिलेटर, जीवन रक्षक दवाएं और उपभोग्य सामग्रह (मास्क, पीपीई किट, सैनिटाइजर आदि)तथा ऑक्सीजन रिजर्व की उपलब्धता की समीक्षा करेंगे।
  • वरिष्ठ आईएएस अधिकारी  संजीव कौशल को फरीदाबाद वी.एस. कुण्डू को रेवाड़ी,  पी.के. दास को कैथल और श्री आलोक निगम को पंचकूला जिले का इंचार्ज बनाया गया है। इसी तरह,  धीरा खंडेलवाल को जीन्द,देवेन्द्र सिंह को करनाल, अमित झा को सोनीपत, श्री एस.एन. रॉय को अंबाला और डॉ. महावीर सिंह को फतेहाबाद जिले की जिम्मेदारी दी गई है।  सुधीर राजपाल को गुरुग्राम,  सुमिता मिश्रा को झज्जर, अनुराग रस्तोगी को हिसार,  आनन्द मोहन शरण को रोहतक,  आर.एस. वुंडरू को पलवल,  अशोक खेमका को नूंह,  विनीत गर्ग को सिरसा,  जी. अनुपमा को कुरुक्षेत्र और  अपूर्व कुमार सिंह को पानीपत जिले का दायित्व सौंपा गया है। इसके अलावा,  दीप्ति उमाशंकर को यमुनानगर,  अनुराग अग्रवाल को महेंद्रगढ़, डी.सुरेश को चरखी दादरी और श्री नितिन कुमार यादव को भिवानी जिले का प्रभारी बनाया गया है।
  • ये अधिकारी संबंधित जिले में कोविड-19 के इलाज के लिए जरूरत के मुताबिक और अधिक निजी अस्पतालों को जोडऩा, सक्रिय कोविड-19 पॉजीटिव मामलों की कॉन्टेक्ट ट्रेसिंग बढ़ाना, जिला प्रशासन द्वारा मेक्रो या माइक्रो कंटेनमेंट जोन की स्थापना की समीक्षा, होम आइसोलेशन में रह रहे कोविड-19 मरीजों की टेली-कंसल्टेशन तथा उनके लिए की गई व्यवस्था की समीक्षा करना, सार्वजनिक स्थानों पर कोविड-19 एप्रोप्रिएट बिहेवियर जैसे- सोशल डिस्टेंसिंग, मास्क पहनना, हाथों की सफाई आदि का पालन करवाना और सामाजिक समारोहों, विशेष तौर पर बैंक्वेट हॉल में शादियों व अन्य पारिवारिक समारोहों के दौरान सरकार द्वारा जारी आदेशों का सख्ती से कार्यान्वयन भी सुनिश्चित करेंगे।
  • इसके अलावा, ये अधिकारी मरीजों की सहायता के लिए खाद्य तथा अन्य सामग्री की व्यवस्था के लिए एनजीओ, सामाजिक तथा स्वैच्छिक संगठनों को सूचीबद्ध करेंगे। आवश्यक वस्तुओं के मूल्य तथा उनकी उपलब्धता की निगरानी करेंगे। साथ ही, ये अधिकारी विभिन्न आवंटित ऑक्सीजन संयंत्रों से लिक्विड मेडिकल ऑक्सीजन (एलएमओ), ऑक्सीजन सिलेंडर की उपलब्धता और इनकी निर्बाध आपूर्ति की भी निगरानी करेंगे।
  • खान एवं भू-विज्ञान विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव श्री टी.सी. गुप्ता  चंडीगढ़/पंचकूला स्टेट कंट्रोल रूम का कामकाज देखेंगे और इसका पर्यवेक्षण करेंगे। वे सभी तरह की हेल्पलाइन (ऑक्सीजन हेल्पलाइन समेत) के कामकाज की भी देखरेख करेंगे और उसी समय सीधे मुख्य सचिव को रिपोर्ट करेंगे।