कोरोना योद्धाओं की भूमिका में ‘यंगिस्तान’ : एनसीसी कैडेट्स ने सोशल डिस्टेंसिंग का महत्व सिखाने में निभाई महत्वपूर्ण भूमिका

Himachal Pradesh
By Admin

ऊनाः कोविड-19 के विरुद्ध युद्ध में यंगिस्तान भी महत्वपूर्ण भूमिका निभा रहा है। एकता व अनुशासन से भरे एनसीसी के युवा कैडेट्स ने जिला ऊना के लोगों में सोशल डिस्टेसिंग का पाठ पढ़ाया। स्वेच्छा से एनसीसी के वॉलंटियर्स कोरोना के खिलाफ रणभूमि में उतरे, कोरोना योद्धाओं के रुप में 40 दिन तक कार्य किया। कोरोना संकट के बीच 8 अप्रैल को एनसीसी कैडेट्स ने संतोषगढ़, बंगाणा, गगरेट, ऊना, दौलतपुर, अंब आदि 10 स्थानों पर तैनात किया गया, जिन्होंने बहुमूल्य योगदान देते हुए दुकानदारों व ग्राहकों को सोशल डिस्टेंसिंग व मास्क के महत्व के बारे में बताया और उन्हें कोरोना के प्रति जागरूक भी किया। एनसीसी के वॉलंटियर्स ने घूम-घूम कर निर्देश पत्र के साथ फूल भी लोगों को दिए और जिला प्रशासन द्वारा जारी की जा रही गाइडलाइन्स का पालन करने की अपील की।ऊना रोटरी चौक पर कई दिन तक ड्यूटी देने वाले एनसीसी के अंडर ऑफिसर सचिन ने कहा “कोरोना से बचने के लिए मास्क व सोशल डिस्टेंसिंग अनिवार्य है। लोगों को दुकानों के बाहर लगाए गए निशानों के मध्य में खड़े रहकर अपनी बारी आने के बारे में बताया गया है।”8 अप्रैल से तैनात कैडेट वसुधा ने कहा कि जिला ऊना के लोग भी सहयोग करते हैं। जो निर्देश दिए जाते हैं, उन्हें मानते हैं क्योंकि उन्हें पता है कि यह सभी के हित में है। कैडेट अंजलि ने कहा कि कोरोना संकट में एक नई भूमिका में कार्य कर अच्छा लग रहा है। अधिकतर लोग स्वयं ही नियमों का पालन कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि एनसीसी ने बैनर लगाकर भी कोरोना के प्रति जागरूकता फैलाई है।ऊना के दुकानदारों ने भी इस पहल की स्वागत किया और एनसीसी कैडेट्स की सराहना की। दुकानदार पवन कुमार व चमन लाल साहनी ने कहा कि बाजार के दुकानदार पूरा सहयोग करत रहे हैं। वॉलंटियर्स अच्छा काम कर रहे हैं।एनसीसी के कमांडिंग ऑफिसर कर्नल संकेत देयो ने कहा “जिला ऊना में 40 दिनों तक लगभग 150 कैडेट्स की तैनाती कई गई थी। उन्हें तैनात करने से पहले आवश्यक तैयारी भी की गई। कैडेट्स को ट्रेनिंग दी गई और आईजीएमसी शिमला के डॉक्टरों के द्वारा उन्हें वायरस के बारे में ऑनलाइन जानकारी दी गई। ट्रेनिंग के बाद कैडेट्स को प्रमाण पत्र दिए गए। एनसीसी वॉलंटियर्स ने कोरोना के प्रति जागरूकता में सक्रिय भूमिका निभाई और लोगों को आरोग्य सेतु ऐप डाउनलोड करने के लिए प्रेरित भी किया। इसके अलावा एनसीसी कैडेट्स ने 3000 मास्क भी बनाए और उन्हें जरूरतमंदों को निशुल्क वितरित किया। उन्होंने कहा कि फिलहाल एनसीसी कैडेट्स की तैनाती रोकी गई है लेकिन आवश्यकतानुसार एक बार पुनः उन्हें मैदान में उतारा जा सकता है।”जिला प्रशासन ऊना भी एनसीसी वॉलंटियर्स के योगदान की सराहना कर रहा है। उपायुक्त ऊना संदीप कुमार ने कहा कि एनसीसी का रोल महत्वपूर्ण रहा है और कैडेट्स की तैनाती से प्रशासन को बहुत मदद मिली। उन्होंने न सिर्फ सामाजिक दूरी के बारे में लोगों को जागरूक किया, बल्कि ट्रैफिक मैनेजमेंट में भी सक्रिय भूमिका निभाई।

????????????????????????????????????
????????????????????????????????????
????????????????????????????????????

Leave a Reply