लोगों की भावनाओं से खिलवाड़, शमशान घाट में बने लॉकर से अस्थियां चोरी

Chandigarh
By Admin

 

 

परिवार के लोगों को रो-रो कर बुरा हाल, पुलिस जांच में जुटी

 चंडीगढ़, 28 अगस्त एम.एस। सैक्टर-25 स्थित शमशान घाट में तैनात कर्मियों द्वारा एक परिवार की भावनाओं के साथ खिलवाड़ करने का मामला सामने आया है। चंडीगढ़ के साथ लगते गांव कैंबवाला के रहने वाले रवि वर्मा द्वारा सैक्टर 25 स्थित शमशान घाट में बने लॉकर में अस्थियां रखी गई थी जोकि वहा से गायब हो गई। जानकारी के अनुसार कैंबवाला के रहने वाले रवि वर्मा की माता का 21 अगस्त को देहांत हुआ था। उन्होंने अपनी माता की अस्थियों को उठाकर शमशान घाट में बने लाकर नंबर-9 में रखवा दी थी। बुधवार को उन्होनें हरिद्वार अस्थियां विसिर्जत करनी थी। जिसके लिए उसकी बहन व अन्य परिवारिक लोग विदेश व अन्य जगह से आए हुए थे। बुधवार सुबह जब वह अपने परिवार के साथ सेक्टर 25 शमशान घाट में अस्थियां लेने के लिए पहुंचे तो उन्होंने वहा के कर्मचारी को लॉकर खोलने के लिए कहा, जब लॉकर नंबर-9 खोला गया तो उसके अंदर उनकी माता की अस्थियां गायब थी। जिसे देखकर वह हैरान रह गए और काफी परेशान हुए। इस संबंध में उन्होंने शमशान घाट में तैनात कर्मियों से पूछताछ की, लेकिन उन्हें किसी भी तरह का कोई संतुष्टि भरा जवाब नहीं मिला। शमशान घाट में तैनात कर्मियों ने उन्हें भरोसा दिलाते हुए कहा कि उनकी मां की अस्थियां 6 नंबर लॉकर वाले ले गए हैं। जो कि उन्हें वापस कर दी जाएंगी। लेकिन जब वर्मा के परिवार वालों ने 6 नंबर लॉकर वालों से बात की तो उन्होंने इस बात से इनकार किया कि वह तो अपने किसी परिवारिक सदस्य की अस्थियां लेकर गए हैं। उनके द्वारा उनकी मां की हस्थियां नहीं लेजाइ गई। वर्मा का कहना है कि उन्होंने अपनी मां की अस्थियां रखते समय उस पर नाम के साथ कुछ निशानियां लगाई थी। जिससे कि पता लगे कि वह उनकी माता की अस्थियां हैं। काफी तलाशने के बाद भी जब अस्थियां नहीं मिली तो वह कर्मियों से जवाब मांगते रहे। लेकिन उनके द्वारा उन्हें कोई भी समाधान नहीं बताया गया। जिसके बाद उन्होंने इसकी सूचना पुलिस कंट्रोल रूम पर दी। पुलिस कर्मियों से पूछताछ कर मामले की जांच कर रही है। वर्मा ने आरोप लगाया है कि यहां पर तैनात कर्मियों द्वारा लोगों की भावनाओं से खिलवाड़ किया जा रहा है। जिन लॉकरों में अस्थियों को रखा जाता है उसकी देखभाल के लिए यहां पर किसी को भी तैनात नहीं किया गया है। कोई भी व्यक्ति अपनी मर्जी से यहां से हस्तियां ले जा सकता है। उनको शक है कि किसी तांत्रिक द्वारा ऐसा काम किया गया है। लेकिन अब किसी के द्वारा भी इसकी जिम्मेवारी नहीं ली जा रही है।

Leave a Reply