जन मंच कर रहा है लोगों की समस्याओं का प्रभावी समाधानः मुख्यमंत्री

Himachal Pradesh
By Admin

संजय शर्मा :

 सिराज विधानसभा क्षेत्र के पंजैन में की जन मंच की अध्यक्षता
मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर ने आज जिला मण्डी विधानसभा क्षेत्र सराज के पजैंन में आयोजित पांचवें जन मंच की अध्यक्षता करते हुए कहा कि इस कार्यक्रम का उद्देश्य आमजन की समस्याओं का मौके तथा उनके घरद्वाज के समीप निपटारा करना है।
मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश सरकार ने जनता तक सीधे तौर पर पहुंचने के लिए जन मंच कार्याक्रम आरम्भ किया है। उन्होंने कहा कि उन्हें हमेशा ऐसा महसूस हुआ है कि आम लोगों को सरकारी कार्यालयों में विभिन्न समस्याओं के निपटारे में बहुत कठिनाईयां सहन करनी पड़ती है, इसलिए प्रदेश सरकार ने इस कार्यक्रम की कल्पना की।
जय राम ठाकुर ने कहा कि यह कार्यक्रम प्रदेश में लोकप्रिय हुआ है तथा इससे पहले आयोजित चार जन मंच कार्यक्रमों में आम लोगों से सम्बन्धित 10,000 से अधिक समस्याओं व मुद्दों का निपटारा किया गया है। उन्होंने कहा कि इस कार्यक्रम ने यह भी सुनिश्चित किया है कि लोगों को अपनी समस्याओं के लिए सरकार कार्यालयों में न जाना पड़े। उन्होंने कहा कि जन मंच के दौरान आयोजित विभिन्न शिविरों में लोगों को मौके पर सभी प्रकार की आवश्यक सेवाएं प्रदान की जा रही है, जिससे उन्हें असुविधा का सामना नहीं करना पड़ रहा है।
मुख्यमंत्री ने कहा कि यह कार्यक्रम प्रदेश में पहले आरम्भ किए गए समान कार्यक्रमों से अलग है क्योंकि यह कार्यक्रम परिणाम आधारित है। उन्हेंने कहा कि प्रदेश सरकार सुनिश्चित कर रही है कि जन मंच के दौरान उठने वाली सभी समस्याओं का निपटारा निश्चित समय अवधि में किया जाए। उन्होंने अधिकारियों को जन मंच के दौरान लोगों द्वारा उठाए गए मुददों व उनकी समस्याओं के तीव्र निपटारे की ओर ध्यान देने के निर्देश दिए।
जय राम ठाकुर ने कहा कि धुंआ रहित खाना बनाने की सुविधा प्रदान करने के उद्देश्य से प्रदेश में महिलाओं को निःशुल्क गैस कनेक्श्ेन प्रदान करने के लिए हिमाचल गृहिणी सुविधा योजना आरम्भ की गई है। उन्होंने कहा कि एक साल के भीतर प्रदेश के सभी घरों में धुआं रहित रसोई होगी। उन्होंने कहा कि मॉनसून के दौरान भारी वर्षा से सड़कों तथा सम्पति को भारी नुकसान हुआ हैं। उन्होंने अधिकारियों को तीव्र मुरम्मत तथा यात्रियों की सुविधा के लिए क्षतिग्रस्त सड़कों की देखभाल सुनिश्चित बनाने के निर्देश दिए।
उन्होंने अधिकारियों को जिला मण्डी के सिराज क्षेत्र की मणी पंचायत की निवासी, विधवा व तीन बच्चों की मां 26 वर्षीय पट्टी देवी की समस्या के समाधान पर तुरन्त हर सम्भव सहायता प्रदान करने के निर्देश दिए।
जन मंच के दौरान 11 पंचायतों जिनमें बालीचौकी, खानी, देवधार, थाची, सोमगड़, पंजैंण, भंवर, कालू, खलवाहन, मणी, मुराद शामिल हैं, के लोगों ने अपनी समस्याओं व अन्य मुददों के निपटारे के लिए भाग लिया।
इसके अतिरिक्त एलोपैथिक तथा आयुर्वेदिक चिकित्सा शिविर तथा रक्तदान शिविर आयोजित किए गए जिनमें चिकित्सा जॉच के लिए भारी संख्या में लोगों ने भाग लिया। मुख्यमंत्री ने हिमाचल गृहिणी सुविधा योजना के अन्तर्गत महिलाओं को निःशुल्क एलपीजी कनेक्शन प्रदान किए। जन मंच के दौरान विभिन्न प्रकार के प्रमाण-पत्र जारी किए गए तथा युवा क्लबों का पंजीकरण व हिमाचली स्थायी निवासी प्रमाण-पत्र भी प्रदान किए गए।
जन मंच के दौरान 993 मामलें/आवेदन प्राप्त किए गए तथा इनमें से अधिकतर का मौके पर निपटारा किया गया शेष मामलों को सम्बन्धित विभागों को 10 दिनों के भीतर निपटारे के लिए भेजा गया। जन मंच में आय/जाति प्रमाण-पत्र, प्रमाण-पत्रों का सत्यापन, परिवार रजिस्टर की नकल, विधवा/वृद्ध/शारीरिक अक्षमता पैंशन, शारीरिक अक्षमता प्रमाण-पत्र, घरेलू गैस कनेक्शन, स्वास्थ्य परिक्षण, मोटर लाईसेंस, इन्तकाल, आधार कार्ड, बागवानी कार्ड, राशन कार्ड से सम्बन्धित सेवाएं भी प्रदान की गई।
राजस्व विभाग ने इस अवसर पर प्रमाण पत्र बनाए तथा पैंशन मामलों को भी स्वीकृत किया। कई किसानों को मृदा स्वास्थ्य कार्ड भी जारी किए गए। स्वास्थ्य तथा आयुर्वेद विभागों ने लोगों को प्राथमिक स्वास्थ्य जॉंच सुविधा प्रदान करने के लिए स्वास्थ्य शिविरों का आयोजन किया। इस अवसर पर 276 ओपीडी रोगियों की जॉंच की गई, 151 विकलांग व्यक्तियों को पंजीकृत किया गया, 70 स्वास्थ्य कार्ड जारी किए गए तथा नौ प्रयोगशाला परीक्षण किए गए।
मुख्यमंत्री ने इस अवसर पर कन्याओं के सशक्तिकरण के लिए जिला मण्डी में बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ कार्यक्रम आरम्भ किया। यह कार्यक्रम प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने 22 जनवरी, 2015 को देश में 100 जिलों के लिए आरम्भ किया था। प्रदेश में इस कार्यक्रम के अन्तर्गत प्रथम चरण में जिला ऊना को लाया गया तथा द्वितीय चरण में हमीरपुर व कांगड़ा जिला को शामिल किया गया। अब इसके अन्तर्गत सोलन, सिरमौर, शिमला, बिलासपुर तथा मण्डी जिलों को शामिल किया जाना है। उन्होंने इस अवसर पर विभिन्न बोर्ड परिक्षाओं में बेहतरीन प्रदर्शन करने वाली अनेक कन्याओं को सम्मानित किया। उन्होंने एक कन्या को गोल्डन गर्ल प्रमाण-पत्र तथा 20,000 रुपये की पुरस्कार राशि से सम्मानित किया। उन्होंने इस अवसर पर आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं को आई.ई.सी किट भी प्रदान की। बेटी है योजना के अन्तर्गत पांच कन्याओं के अभिभावकों को एफडीआर के लिए 10,000 रुपये प्रत्येक को प्रदान किए।
उन्होंने राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशालाओं को 10वीं कक्षा में छात्राओं द्वारा शत प्रतिशत परिणाम लाने के लिए प्रत्येक को 20,000 रुपये व प्रमाण-पत्र से पुरस्कृत किया।
मण्डी के उपायुक्त ऋग्वेद ठाकुर ने इस अवसर पर मुख्यमंत्री तथा अन्य गणमान्यों का स्वागत किया। उन्होंने इस योजना के अन्तर्गत प्रदान की जाने वाली विभिन्न सुविधाओं की जानकारी दी।
मुख्यमंत्री की धर्मपत्नी डॉ. साधना ठाकुर, विधायक जवाहर ठाकुर तथा इन्द्र सिंह गांधी, मिल्कफेड के अध्यक्ष निहाल शर्मा, वक्फ बोर्ड के अध्यक्ष राजाबली, पुलिस अधीक्षक गुरूदेव शर्मा तथा विभिन्न विभागों के अधिकारी भी अन्य गणमान्यों सहित इस अवसर पर उपस्थित थे।

 

Leave a Reply