बरसात होने से किसानों की खराब फसल की भरपाई करवाई जाएगी : मुख्यमंत्री  मनोहर लाल

Haryana
By Admin

चण्डीगढ़, 29 जुलाई- हरियाणा के मुख्यमंत्री  मनोहर लाल ने आज घोषणा करते हुए कहा कि बरसात होने से जिन किसानों की फसल खराब हुई है, उनकी भरपाई करवाई जाएगी। उन्होंने कहा कि जिन किसानों ने प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना नहीं अपना रखी है, उनकी विशेष गिरदावरी करवाई जाएगी और ऐसे सभी किसानों की भरपाई करवाई जाएगी।
मुख्यमंत्री ने यह निर्देश आज यहां राज्य में हो रही बरसात की स्थिति का जायजा लेने व यमुना नदी के जलस्तर की समीक्षा की आपात बैठक के दौरान अधिकारियों को दिए। उन्होंने कहा कि राज्य के जिन किसानों की फसल खराब हुई है और उन्होंने फसल बीमा योजना नहीं ले रखी है, तो उन सभी किसानों की भरपाई की जाएगी तथा इस उदेश्य के लिए विशेष गिरदावरी तुरंत करवाई जाएगी। उन्होंने कहा कि जहां-जहां किसानों ने अपनी फसल का बीमा करवाया हुआ है वहां पर फसल बीमा के माध्यम से मुआबजा दिया जाएगा और जहां कहीं यदि किसी किसान ने अपनी फसल का बीमा नहीं करवाया हुआ है तो वहां पर सरकार की ओर से भरपाई की जाएगी।
बैठक में मुख्य सचिव श्री डी. एस. ढेसी, मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव श्री राजेश खुल्लर, राजस्व एवं आपदा प्रबंधन विभाग की अतिरिक्त मुख्य सचिव श्रीमती केशनी आनंद अरोड़ा, सिंचाई विभाग के प्रधान सचिव श्री अनुराग रस्तोगी, मुख्यमंत्री के उप-प्रधान सचिव श्री मंदीप सिंह बराड़, सामान्य प्रशासन तथा राजस्व एवं आपदा प्रबंधन विभाग के सचिव श्री व्रिजेन्द्रा कुमार, सूचना, जनसंपर्क एवं भाषा विभाग के महानिदेशक श्री समीरपाल सरो सहित अन्य वरिष्ठï अधिकारी उपस्थित थे।
क्रमंाक-2018

चण्डीगढ़, 29 जुलाई- हरियाणा के मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल ने सिंचाई विभाग के अधिकारियों को निर्देश देते हुए कहा कि हिमाचल प्रदेश में बनने वाले बांधों के विषय में हरियाणा में होने वाले प्रभाव पर अध्ययन करें ताकि हिमाचल प्रदेश में बनने वाले बांधों से राज्य में किसी भी प्रकार का कोई असर न हो।
मुख्यमंत्री ने यह निर्देश आज यहां राज्य में हो रही बरसात की स्थिति का जायजा लेने व यमुना नदी के जलस्तर की समीक्षा की आपात बैठक के दौरान अधिकारियों को दिए। बैठक में मुख्यमंंत्री ने अधिकारियों को निर्देश देते हुए कहा कि हिमाचल प्रदेश में बनने वाले बांधों से यदि हरियाणा को लाभ या हानि होती है तो उसका अध्ययन करें ताकि राज्य में इन बांधों की वजह से किसी भी प्रकार का कोई असर न हों।
बैठक में मुख्यमंत्री को रेणूका, किसाऊ और लखबार बांधों के बनने से राज्य में होने वाले असर की जानकारी देते हुए अधिकारियों ने बताया कि रेणूका बांध गिरी नदी पर, किसाऊ बांध यमुना नदी पर और लखबार बांध टोंस नदी पर बनाए जाने हैं और जब यह बांध इन नदियों पर बन जाएंगें तो हरियाणा में बाढ की स्थिति व बाढ नहीं आएगी तथा इनके बनने से हरियाणा को अतिरिक्त पानी भी मिलेगा। अधिकारियों ने मुख्यमंत्री को बताया कि पानी की कमी वाले दिनों जैसे कि अत्यधिक गर्मियों व सर्दियों के दौरान भी राज्य को इन बांधों के माध्ये से जल प्राप्त होगा।
बैठक में मुख्य सचिव  डी. एस. ढेसी, मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव  राजेश खुल्लर, राजस्व एवं आपदा प्रबंधन विभाग की अतिरिक्त मुख्य सचिव श्रीमती केशनी आनंद अरोड़ा, सिंचाई विभाग के प्रधान सचिव  अनुराग रस्तोगी, मुख्यमंत्री के उप-प्रधान सचिव  मंदीप सिंह बराड़, सामान्य प्रशासन तथा राजस्व एवं आपदा प्रबंधन विभाग के सचिव  व्रिजेन्द्रा कुमार, सूचना, जनसंपर्क एवं भाषा विभाग के महानिदेशक समीरपाल सरो सहित अन्य वरिष्ठï अधिकारी उपस्थित थे।

Leave a Reply