निलंबित डीएसपी सेखों स्पष्ट रूप से राजनैतिक विरोधियों के इशारों पर काम कर रहा: एमपी रवनीत सिंह बिट्टू

Web Location
By Admin

कहा, डीएसपी बलविंदर सेखों अकाली-बीजेपी नेताओं का मोहरा जो उनकी इच्छानुसार करता है काम
कहा, डीएसपी सेखों के विरूद्ध ढेर सारी एफआईआर हैं दर्ज और पहले भी हो चुका है निलंबित
ईमानदार नेता भारत भूषण आशु की छवि खराब करना है उसका उद्देश्य
चंडीगढ़, 23 फरवरी:
लुधियाना के सांसद रवनीत सिंह बिट्टू ने आज कहा कि निलंबित डीएसपी बलविंदर सिंह सेखों स्पष्ट रूप से अपने राजनीतिक विरोधियों के इशारे पर काम कर रहा है। आज यहां जारी एक प्रेस बयान में बिट्टू ने कहा कि डीएसपी सेखों अकाली-भाजपा नेताओं का केवल एक मोहरा है और उनकी इच्छानुसार काम कर रहा है।
उन्होंने कहा कि डीएसपी बलविंदर सेखों का एकमात्र ऐजंडा उन सभी लोगों के प्रति नकारात्मक दृष्टिकोण रखने का है जो लुधियाना के विकास करना चाहते हैं। उन्होंने कहा कि डीएसपी सेखों की आज की प्रेस कांफ्रेंस झूठे बयानों और दुष्प्रचार से भरी हुई है, जिससे साफ पता चलता है कि निलंबित डीएसपी अकाली दल और भाजपा में अपने आकाओं से केवल भारत भूषण आशु को बदनाम करने के लिए दिशा-निर्देश ले रहा है, जिन्हें उनके विकास पक्षीय एजेंडे के लिए जाना जाता है। ।
सांसद रवनीत सिंह बिट्टू ने आगे कहा कि डीएसपी बलविंदर सिंह सेखों विवादों में कोई नया नहीं है। उन्होंने अरोप लगाते हुए कहा, ‘‘उसके विरूद्ध जाली नोटों की छपाई, सार्वजनिक धन के दुरुपयोग, रिश्वत स्वीकार करने के अलावा कई और मुकद्मे दर्ज हैं। और यह पहली बार नहीं है कि उसे निलंबित किया गया है, क्योंकि पहले भी वह अपने पद से पूर्ण रूप से बर्खास्त हो चुका है। यहां तक कि भाजपा के पूर्व राज्य अध्यक्ष के साथ भी उसके करीबी संबंध थे और फिरोजपुर में उस भाजपा नेता के निजी सहायक के खिलाफ दर्ज एफआरआई में सह-अभियुक्त था। इससे स्पष्ट होता है कि डीएसपी बलविंदर सिंह सेखों अकाली-भाजपा नेताओं के इशारे पर काम कर रहा है और वह केवल उनका एक मोहरा है’’।
उन्होंने आरोप लगाया कि सभी जानते हैं कि डीएसपी सेखों ने पार्किंग के मुद्दे पर एक शहरी निवासी के साथ दुव्र्यवहार किया था और उसी से संबंधित वीडियो भी सोशल मीडिया पर वायरल हुआ था। उन्होंने डीएसपी सेखों द्वारा भारत भूषण आशु के खिलाफ की गई प्रेस कॉन्फ्रेंस के समय पर भी सवाल उठाया।
बिट्टू ने कहा कि कोई भी कानून से ऊपर नहीं है और एक पुलिस अधिकारी जो अपने सार्वजनिक व्यवहार के चलते कई बार निलंबित हो चुका है, उस परदे के पीछे नहीं छिप सकता जिसे वह झूठ और गलत आरोपों द्वारा तैयार करने की कोशिश कर रहा है।

Leave a Reply