कैप्टन अमरिन्दर सिंह द्वाराइ सरबत सेहत बीमा योजना का आगाज़

Punjab REGIONAL
By Admin

राजीव गांधी की 75वीं जयंती को किया समर्पित

एस.ए.एस. नगर मोहाली, 20 अगस्त:

पूर्व स्व. प्रधानमंत्री राजीव गांधी को उनकी 75वीं जयंती के मौके पर श्रद्धाँजलि भेंट करते हुए पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिन्दर सिंह ने मंगलवार को सरकार की महत्वपूर्ण सेहत बीमा स्कीम ‘सरबत सेहत बीमा योजना ’ का आग़ाज़ किया जिससे 46 लाख परिवारों को लाभ पहुँचेगा।

    आज यहाँ स्कीम की शुरुआत करते हुए मोहाली जिले के पहले 11 लाभपात्रीयों को ई-कार्ड भी सौंपे गए। इस स्कीम से लाभपात्री प्रति परिवार प्रति साल 5 लाख रुपए तक का नगदी रहित इलाज करवा सकेंगे। इससे लाभपात्रीयों का मुफ़्त और बेहतर इलाज हो सकेगा जिसमें उनके पहले से हुए रोग का इलाज भी शामिल होगा।

मुख्यमंत्री ने कहा कि इस स्कीम के जारी होने से राज्य की 76 प्रतिशत जनसंख्या सेहत बीमा के अंतर्गत कवर हो गई है और इतनी बड़ी संख्या को कवर करने वाला पंजाब देश का पहला राज्य बन गया है। उन्होंने लोक कल्याण की इस महत्वपूर्ण स्कीम को राजीव गांधी को समर्पित किया। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार देश के सबसे नौजवान प्रधानमंत्री की सोच को आगे बढ़ाते हुए लोगों की उम्मीदों पर खरा उतरने के लिए पूरी तरह वचनबद्ध है।

यह बात याद रखने योग्य है कि राज्य सरकार की तरफ से कुछ महीने पहले प्रधानमंत्री जन अरोग्य योजना का दायरा बढ़ाने का फ़ैसला किया गया था जिससे 31 लाख और परिवारों को 5-5 लाख रुपए का प्रति साल बीमा कवर मिला। प्रधानमंत्री जन अरोग्य योजना के अंतर्गत 14.86 लाख परिवर कवर होते हैं जिसके प्रीमियम का खर्चा केंद्र और राज्य सरकार की तरफ से 60:40 के अनुपात में उठाया जाना है। यह आंकड़े सामाजिक आर्थिक जाती जनगणना (एस.ई.सी.सी.) के अनुसार लिए गए हैं। राज्य सरकार की तरफ से आज शुरू की गई स्कीम में और नये शामिल किये गए 31 लाख लाभपात्रीयों के प्रीमियम का सारा खर्चा पंजाब सरकार उठाएगी।

इस मौके पर संबोधन करते हुए कैप्टन अमरिन्दर सिंह ने कहा कि उनकी सरकार की तरफ से कई महीने पहले 76 प्रतिशत जनसंख्या को सेहत बीमा के अंतर्गत कवर करने की योजना बनाई गई थी और यदि हम केंद्र सरकार की प्रधानमंत्री जन अरोग्य योजना को हूबहू लागू करते तो राज्य की 12 प्रतिशत जनसंख्या ही कवर होनी थी। बाकी राज्यों में इस स्कीम के अंतर्गत अधिक से अधिक 30 प्रतिशत जनसंख्या को ही सेहत बीमा के अंतर्गत कवर किया गया।

मुख्यमंत्री ने इस मौके पर राजीव गांधी को याद करते हुए कहा कि उनकी प्रगतिशील सोच स्वरूप पंजाब में पेप्सी के रूप में पहला बहुराष्ट्रीय प्रोजैक्ट स्थापित किया गया था। मुख्यमंत्री ने कहा, ‘‘मैं उस समय पंजाब में कृषि मंत्री था जब मैं इस प्लांट को स्थापित करने की योजना प्रधानमंत्री कार्यालय के पास लेकर गया जो कि राज्य में फ़सलीय विभिन्नता लागू करने की दिशा में बड़ा कदम था। मुझे अब भी याद है कि कैसे मुझे आठवें दिन यह संदेश मिला कि प्रधानमंत्री ने यह प्रोजैक्ट मंज़ूर कर लिया है और वह मुझे मिलना चाहते हैं।’’

सरबत सेहत बीमा योजना के अंतर्गत कवर किये गए 46 लाख परिवार बारे विस्तार में खुलासा करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि इस स्कीम के अंतर्गत 20.43 लाख लाभपात्री स्मार्ट राशन कार्ड होल्डर परिवार हैं। इसके अलावा सी.ई.सी.सी. के आंकड़ों के अनुसार 14.86 लाख परिवार, 2.8 लाख छोटे किसान, राज्य निर्माण कल्याण बोर्ड के पास पंजीकृत 2.38 लाख से ज़्यादा निर्माण कामगार, 46 हज़ार छोटे व्यापारी भी शामिल हैं। इस स्कीम में राज्य सरकार के एक्रीडेटिड और पीला कार्ड धारक 4500 पत्रकार भी कवर किये गए हैं।

इस स्कीम के द्वारा लाभपात्री 200 सरकारी अस्पतालों समेत 450 से अधिक सूचीबद्ध अस्पतालों के द्वारा अपना इलाज करवा सकेंगे। इस स्कीम के अंतर्गत विशेष तौर पर 1396 ट्रीटमेंट पैकेज डिज़ाइन किये गए हैं। महात्मा गांधी सरबत सेहत बीमा योजना के अधीन 333 करोड़ के कुल प्रीमियम में से 276 करोड़ रुपए की राशि जो 83 प्रतिशत बनती है, राज्य सरकार की हिस्सेदारी होगी जबकि बाकी बचती 57 करोड़ रुपए की हिस्सेदारी भारत सरकार की होगी। इस स्कीम के अंतर्गत ऑपरेशनों सम्बन्धी पैकेज में अस्पताल में दाखि़ल होने से पहले के तीन दिन और बाद के 15 दिन भी शामिल किये जाएंगे।

इससे पहले अपने स्वागती भाषण में स्वास्थ्य मंत्री बलबीर सिंह सिद्धू ने यह ऐतिहासिक फ़ैसला लेने के लिए मुख्यमंत्री की प्रशंसा करते हुए कहा कि यह कदम राज्य के स्वास्थ्य क्षेत्र में नयी क्रांति लायेगा। उन्होंने यह भी बताया कि मरीज़ के पास ई-कार्ड न होने की सूरत में भी वह किसी भी सूचीबद्ध हस्पताल में जाकर अरोग्य मित्र को मिल सकता है जहाँ उसका मौके पर ई-कार्ड बनाकर नगदी रहित अदायगी की सुविधा प्रदान की जायेगी।

इस विलक्षण कदम के लिए पंजाब मंडी बोर्ड के चेयरमैन लाल सिंह ने भी मुख्यमंत्री का धन्यवाद किया।

इस मौके पर पंजाब हैल्थ सिस्टम कॉर्पोरेशन के चेयरमैन अमरदीप सिंह चीमा, विधायक बलविन्दर सिंह लाडी और संतोख सिंह भलाईपुर, स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग के प्रमुख सचिव श्री अनुराग अग्रवाल, मुख्यमंत्री के विशेष प्रमुख सचिव श्री गुरकिरत किरपाल सिंह, पंजाब हैल्थ सिस्टम कॉर्पोरेशन के एम.डी. और राज्य स्वास्थ्य एजेंसी पंजाब के सी.ई.ओ. अमित कुमार और स्वास्थ्य विभाग के विशेष सचिव श्री पुनीत गोयल भी उपस्थित थे।

Leave a Reply