हिमाचल प्रदेश में योजना एवं वास्तुकला स्कूल खोलने की केन्द्र सरकार से मांग उठाई

Himachal Pradesh
By Admin
उद्योग मंत्री बिक्रम सिंह ने आज नई दिल्ली में केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक से मुलाकात करके उनसे हिमाचल में केंद्रीय वित्त पोषित योजना एवं वास्तुकला संस्थान स्वीकृत करने का आग्रह किया। उन्होंने कहा राष्ट्रीय महत्त्व के इस संस्थान के खुलने से हिमालय वास्तुकला के संरक्षण के साथ-साथ पर्वतीय वास्तुकला के अध्ययन-अध्यापन हेतु मदद मिलेगी और प्रदेश के युवाओं के लिए यह संस्थान वरदान साबित होगा।
बिक्रम सिंह ने कहा कि हिमाचल प्रदेश के एक छोटे और पर्वतीय राज्य होने के कारण यहां सीमित संसाधन हैं और प्रदेश के हजारों युवक जोकि योजना एवं वास्तु कला के क्षेत्र में अपना भविष्य बनाना चाहते हैं, उन्हें इस प्रदेश में ऐसी कोई सुविधा उपलब्ध नहीं है। उन्होंने कहा कि प्रदेश में इस संस्थान की स्थापना के लिए अनिवार्य भूमि तथा अन्य सभी प्रकार की सुविधाएं प्रदान करने के लिए प्रदेश सरकार प्रतिबद्ध है।
उन्होंने कहा यह संस्थान पर्वतीय क्षेत्र से संबंधित आपदा प्रबंधन एवं पर्यावरण संरक्षण के क्षेत्र में भी अध्ययन एवं अध्यापन का प्रमुख केंद्र बन सकता है। उन्होंने कहा कि इस समय देश में नई दिल्ली, भोपाल तथा विजयवाड़ा में राष्ट्रीय महत्त्व के तीन स्कूल आफ आर्किटेक्चर कार्यरत हैं और हिमाचल प्रदेश में इस संस्थान के खुलने से तकनीकी शिक्षा के क्षेत्र में एक मील पत्थर साबित होगा।
      केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री ने उद्योग मंत्री बिक्रम सिंह को भरोसा दिलाया कि भविष्य में जब भी ऐसे संस्थान खोले जाएंगे, हिमाचल प्रदेश को प्राथमिकता दी जाएगी।

 

Leave a Reply