जल भराव होने पर उसकी निकासी के लिए तुरंत कार्य के निर्देश

Haryana
By Admin

चण्डीगढ़, 27 जुलाई – हरियाणा के जन स्वास्थ्य अभियांत्रिकी राज्य मंत्री  बनवारी लाल ने अधिकारियों को निर्देश दिए कि वे जन शिकायतों के निपटान व जनसम्मयाओं के समाधान के लिए तत्परता से कार्य करें। उन्होंने बरसात के मौसम के दृष्टिगत बरसाती पानी की निकासी व सिवरेज व्यवस्था ठीक रखने तथा पम्पसैटो को दुरस्त रखने के निर्देश दिए। उन्होंने जल भराव होने पर उसकी निकासी के लिए तुरंत कार्य करें।

        उन्होंने यह निर्देश आज नूंह में जिला लोक सम्पर्क एवं परिवाद समीति की मासिक बैठक की अध्यक्षता करते हुए दिए, जिसमें 6 परिवादों का निपटान किया गया। उन्होंने आमजन से आह्वान किया कि कूड़ा करकट,पोलोथीन,व प्लास्टिक का कचरा आदि को नाली व सिविर लाईन में न डाले। इससे पानी का बहाब रुक जाता है जिसके कारण नाली व सिविर का गंदा पानी सडक़ में आ जाता है, जिससे आने जाने वाले लोगों को परेशनियों का सामना करना पड़ता है।

        उन्होंने अधिकारियों को अन्य 8 शिकायतों में कमेटी बनाकर जांच के आदेश दिए है। उन्होंने अधिकारियों को दिशा-निर्देश देते हुए कहा कि वे इन शिकायतों को प्राथमिकता के आधार पर लेते हुए इनका तत्परता से समाधान करें तथा की गई कार्यावाही की रिपोट अगली बैठक मे प्रस्तुत करें। राज्य मंत्री ने परिवादों की सुनवाई करने उपरांत जनशिकायते सुनते हुए अधिकारियों को आवश्यक दिशा-निर्देश दिए कि वे जन शिकायतों के निपटान व जन सम्मयाओं के समाधान को प्राथमिकता दे।

    बैठक में  अताउर रहमान निवासी लहरवाडी के मामले में  उप- पुलिस अधीक्षक ने बताया कि 14 अगस्त को पोलीग्राफी स्टेट की रिपोर्ट आने के बाद कार्यवाही की जाएगी। वसीम खान की शिकायत थी कि नई की बड़ी जुम्मा मस्जिद से पी.डब्ल्यू.डी. सडक़ नहेदा वाली तक निर्माण कार्य में सरपंच ने घटिया व खराब टाईल लगाकर निर्माण कराया है। इस बारे में जिला विकास एवं पंचायत अधिकारी ने बताया कि जुम्मा मस्जिद से सददाम के घर तक इन्टरलोकिंग रास्ते के कार्यो में प्रयुक्त टाईलों की स्ट्रैंथ पर इस कार्ये पर रिकवरी बनती है, जिसके बारे हरियाणा सरकार पंचायत राज एक्ट 1994 के कार्यवाही की जा रही है। मंत्री ने कहा कि इस मामले की में कमेटी बनाकर दोबारा जांच की जाए। जगत पुत्र धनीराम, सतबीर, श्याम सुदंर निवासी गांव गांगोली के सरपंच महेन्द्रपाल के खिलाफ की शिकायत के संबंध में  मंत्री ने कमेटी बनाकर दोबारा जांच के आदेश दिए है।

    उन्होंने कहा कि इस बैठक का उद्द्ेश्य है कि जो भी शिकायत एजेंडे में शामिल की गई है, उनका मौके पर निवारण होना चाहिए। उन्होंने कहा कि कोई भी शिकायत लंबित न रहें और शिकायत कर्ता को प्राथमिकता के आधार पर न्याय मिले। उन्होंने अधिकारियों से कहा कि उन्हें जो शिकायत संबंधी जांच सौंपी जाए उसकी पूर्ण रुप से निष्पक्ष जांच करें और स्वयं मौके पर जा कर उसे चैक करें और शिकायतों के निपटारा लंबित न करके प्राथिमकता के आधार पर करें।

    इस अवसर पर  सोहना के विधायक तेजपाल तंवर, फिरोजपुर-झिरका के विधायक नसीम अहमद,  भाजपा जिला अध्यक्ष सुरेंद्र प्रताप आर्य, खादी बोर्ड के सदस्य कुवंर संजय, चैयरमैन जाहिद हुसैन, रामवअवतार सिंगला सहित कष्ट निवारण समिति के सदस्य एवं अधिकारी मौजूद थे।

Leave a Reply