• Lt Gen A Mukherjee, Brig M S Gill, Brig I S Gakhal and Maj Gen Shivdev Singh joined Captain Amarinder and The Tribune Editor-in-Chief Harish Khare in the discussion.
    Lt Gen A Mukherjee, Brig M S Gill, Brig I S Gakhal and Maj Gen Shivdev Singh joined Captain Amarinder and The Tribune Editor-in-Chief Harish Khare in the discussion.

गिरफ्तारी या हिरासत मुझे लोगों के मुद्दे उठाने से नहीं रोक सकते : मनजिंदर सिंह सिरसा

re
By Admin

नई दिल्ली, 16 नवंबर

दिल्ली के विधायक और दिल्ली सिख गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी के महासचिव मनजिंदर सिंह सिरसा ने आज कहा कि महात्मा गांधी के बुत पर मास्क लाने की कार्रवाई के कारण उन की गिरफ्तारी या उन को हिरासतमें लेने साथ उन को जनतक मुद्दे उठाने से नहीं रोका जा सकता जो कि केजरीवाल सरकार की भारी गलतियां कारण गंभीर होते जा रहे हैं और जिन मामलों पर केजरीवाल सरकार जी भर कर भ्रष्टाचार कर रही है।

यहां जारी किए एक बयान में सिरसा ने कहा कि उन की गिरफ्तारी या हिरासत उनके लिए रोक नहीं बन सकते। उन्होंने कहा कि वह जनतक प्रतिनिधि हैं और किसी भी ढंग के साथ लोगों के जीवन को प्रभावितकरने वाले मुद्दे उठाना उन का फर्ज है। उन्होंने कहा कि हैरानी वाली बात है कि वातावरण सैस के नाम पर केजरीवाल सरकार ने 787 करोड़ रुपए एकत्रित किए परन्तु खर्च किए सिर्फ 93 लाख रुपए और आदतन अबबाकी की रकम न खर्चने का दोष केंद्र सरकार पर मढ़ रही है।

उन्होंने कहा कि यदि वह पिछले एक साल दौरान वह काम करन के लिए संजीदा होते तो फिर इस राशि के साथ कई काम किए जा सकते थे। उन्होंने कहा कि उन काम न करने को प्रथमता इस लिए दी जिससे वहकेंद्र के सिर आरोप लगा सकें। उन्होंने कहा कि यही हालात पिछले साल पानी संकट मामले में था और अब इस मुद्दे पर हैं। उन्होंने कहा कि यह पैसा बड़ी संख्या में बसें खरीदने पर खर्च हो सकता था, एयर प्यूरीफायरलगाने या एयर कलीनिंग टावर लाने पर खर्च हो सकता था, मकैनिकल स्वीपर लाने पर भी पैसा खर्चा जा सकता था और सडक़ के आसपास की गंदगी जो 33 प्रतिशत प्रदूषण के लिए जिम्मेदार है, के साथ निपटने केलिए भी पैसा खर्च हो सकता था।

 सिरसा ने कहा कि उन का दावा सही था कि पैसों की कमी नहीं होते हमेशा ही नीयत की कमी होती है। उन्होंने कहा कि वह अपनी न समर्थकी नीयत से अवगत थे, इसीलिए एक साल कोई काम नहीं किया।

 सिरसा ने कहा कि केजरीवाल सरकार के भ्रष्ट काम पर कुछ न करने का रवैया अपने आप में रिकार्ड बनते जा रहे हैं। वुहनें कहा कि दिल्ली के लोग जब सामने लेने के गंभीर संकट में उलझे हैं तो तब मुख्यमंत्री श्रीअरविन्द केजरीवाल ड्रामेबाजी में व्यस्त हैं और गैर संजीदगी वाले रवैईए की वजह से मुख्यमंत्री के सिर होती जिम्मेदारियों से भाग रहे हैं।

पार्टी की दोगली नीति का बर्तन तोड़ते  सिरसा ने कहा कि दिल्ली के लोगों के लिए हैरानी वाली बात है कि पार्टी की पंजाब इकाई की लीडरशिप खास तौर पर विपक्ष नेता शरेआम पराली जला रहे हैं और केजरीवालके दावे झुठला रहे हैं कि पंजाब की हवा के साथ दिल्ली में प्रदूषण हो रहा है परन्तु दिल्ली के मुख्यमंत्री यहां लोगों को मूर्ख बनाने में लगे हैं। उन्होंने कहा कि पार्टी की दोगली नीति पर बोलने की जगह केजरीवाल नेअब मीडिया से भागने और इसकी वास्तविकता जाहिर करने वाले हर मुद्दे पर चूसी धारण करने की नीति अपना के लिए है।

 सिरसा ने कहा कि अकाली दल और भाजपा गठजोड़ सरकार जनता की भलाई के लिए काम करने के लिए दृढ़ संकल्प है और केजरीवाल सरकार के भ्रष्टाचार को बेनकाब करने के लिए जो कदम अपेक्षित हुआउठाया जाएगा।