जसवां परागुपर में लोक निर्माण योजनाओं पर 110 करोड़ खर्च किए जायेंगे : मुख्यमंत्री

re
By Admin

 
विधानसभा क्षेत्र के लिए विभिन्न स्वास्थ्य, सड़क तथा शिक्षा परियोजनाओं की घोषणाएं
प्रदेश सरकार कांगड़ा जिले के जसवां परागपुर विधानसभा क्षेत्र में लोक निर्माण विभाग की विभिन्न योजनाओं पर वर्तमान वित्त वर्ष के दौरान 110 करोड़ रुपये व्यय करेगी तथा चनौर में औद्योगिक क्षेत्र विकसित किया जाएगा। यह बात मुख्यमंत्री श्री जय राम ठाकुर ने कांगड़ा जिले के परागपुर में आज एक विशाल जनसभा को सम्बोधित करते हुए दी।
मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश सरकार ने राज्य की बागडोर संभालने के पहले दिन ही 100 दिनों का लक्ष्य निर्धारित कर दिया था तथा इस वचनबद्धता को पूरा करने की दिशा में काम करना आरम्भ कर दिया था। उन्होंने कहा कि मंत्रिमण्डल की पहली ही बैठक में वरिष्ठ नागरिकों को प्रदान की जाने वाली सामाजिक सुरक्षा पेंशन के लिए बिना आय सीमा के आयु सीमा को 80 वर्ष से घटाकर 70 वर्ष करने का निर्णय लिया। उन्होंने कहा कि इस निर्णय से 1,30,000 वृद्धजन लाभान्वित हुए हैं और प्रदेश सरकार पर 200 करोड़ रुपये का वित्तीय बोझ पड़ा है। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार द्वारा प्रस्तुत पहले बजट में न केवल 30 नई योजनाओं को शामिल किया गया है, बल्कि इन सभी योजनाओं के लिए पर्याप्त बजट का भी प्रावधान किया गया है। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार की इन पहलों को प्रधानमंत्री ने भी सराहा है।
श्री जय राम ठाकुर ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के दूरदर्शी नेतृत्व में देश प्रगति व समृद्धि के पथ पर अग्रसर है। उन्होंने कहा कि आज देश के 21 राज्यों में भाजपा शासित सरकारे हैं जो लोगों द्वारा भाजपा को दिए गए समर्थन को दर्शाता है। उन्होंने कहा कि वर्तमान प्रदेश सरकार ने कार्यभार संभालने के तुरन्त बाद ही समाज के सभी वर्गों के कल्याण और प्रदेश के प्रत्येक क्षेत्र के समान विकास के लिए कार्य आरम्भ कर दिया।
मुख्यमंत्री ने कहा कि पूर्व सरकार के शासन के दौरान प्रदेश में कानून व्यवस्था बदहाल थी। उन्होंने कहा कि गुड़िया मामले में प्रदेश की छवि धूमिल हुई है तथा पूर्व सरकार द्वारा गठित एसआईटी के अधिकारी इस मामले में गिरफ्तार व्यक्ति की हिरासत में मृत्यु के चलते जेल में हैं।
उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार ने निर्णय लिया है कि मंदिरों में कुल चढ़ावे का 15 प्रतिशत प्रदेश के गौसदनों के निर्माण व रखरखाव पर खर्च किया जाएगा। उन्होंने कहा कि इस निर्णय का विपक्ष के नेताओं द्वारा विरोध किया गया, जबकि उनके कार्यकाल के दौरान मंदिरों के चढ़ावे की धनराशि का दुरूपयोग कर वातानुकूलित कारों, एयरकंडिशनरों व मोबाइल फोन इत्यादि की खरीद की जाती रही।
श्री जय राम ठाकुर ने कहा कि राज्य में आज छः मेडिकल कॉलेज हैं और अब सरकार ने इन मेडिकल कॉलेजों के प्रभावी प्रबन्धन के लिए राज्य में मेडिकल विश्वविद्यालय खोलने का निर्णय लिया है। उन्होंने कहा कि हमीरपुर जिले में भी शीघ्र ही मेडिकल कॉलेज खोला जाएगा। उन्होंने कहा कि केन्द्र सरकार ने राज्य के लिए 69 राष्ट्रीय राजमार्ग स्वीकृत किए हैं। पिछली सरकार इन राष्ट्रीय राजमार्गों के लिए विस्तृत परियोजना रिपोर्ट बनाने में नाकामयाब रही।
घोषणाएंः-
मुख्यमंत्री ने तीन ग्रामीण सड़कों को मुख्य जिला सड़कों में स्तरोन्नत करने की घोषणा की। उन्होंने संसारपुर टेरेस के आस-पास की मौजूदा सड़कों की मुरम्मत के लिए तीन करोड़ रुपये की घोषणा की। उन्होंने ब्रिक्स (विश्व बैंक परियोजना) के अन्तर्गत रकड़ तहसील क्षेत्र के लिए जलापूर्ति योजनाओं के सुधार के लिए 35 करोड़ रुपये तथा जसवां क्षेत्र के लिए जलापूर्ति योजना के सुधार के लिए ब्रिक्स के अन्तर्गत 63 करोड़ रुपये की घोषणा की। उन्हांने डाडासिब्बा बस अड्डे के निर्माण के लिए 50 लाख रुपये की घोषणा के अलावा खानपुर के समीप स्वां नदी पर पुल के निर्माण के लिए 61.29 करोड़ रुपये की भी घोषणा की।
उन्होंने क्रोआ, सलेटी तथा अलोह में उप स्वास्थ्य खोलने, सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र डाडासिब्बा में प्रसूति कक्ष का निर्माण करने, 30 बिस्तरों के सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र डाडासिब्बा को 50 बिस्तरों के नागरिक अस्पताल में स्तरोन्नत करनं, पांच स्वास्थ्य उप केन्द्रां को प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्रों में स्तरोन्नत करने, सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र कस्बाकोटला तथा पियूर सलूही के लिए रेडियोलॉजिस्ट के दो पदों के सृजन की घोषणाएं की। इसके अलावा उन्होंने डाडासिब्बा तथा रक्कड़ में मिनी सचिवालय भवनों के लिए एक-एक करोड़ रुपये, ऊना ज़िले के कूहना (रक्कड़) में फार्मेसी कॉलेज खोलने, संसारपुर टेरेस में आदर्श आईटीआई खोलने की घोषणा की। उन्होंने डाडासिब्बा तथा डढ़ोहा धरोहर विश्राम गृहों के रखरखाव के लिए प्रत्येक को 25 लाख रुपये की भी घोषणा की।
इसके उपरान्त मुख्यमंत्री ने 201.37 लाख रुपये की लागत से निर्मित होने वाली सियुल खड्ड-डुडकी सड़क तथा 230.67 लाख रुपये की लागत की गोरलधार से नंगल सड़क की आधारशिलाएं रखीं।
मुख्यमंत्री ने संसारपुर टेरेस तथा बद्दी के बीच बस सेवा को हरी झण्डी दिखाकर रवाना किया।
स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री विपिन सिंह परमार ने जनसभा को सम्बोधित करते हुए कहा कि राज्य सरकार ने युवाओं, किसानों, कर्मचारियों तथा समाज के कमज़ोर वर्गों के हितों के लिए अनेक योजनाएं शुरू की है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में केन्द्र सरकार ने भारत को एक शक्तिशाली तथा विकसित राष्ट्र बनाने के लिए कृतसंकल्प है। उन्होंने कहा कि वर्तमान सरकार का कार्यभार सम्भालने के तुरन्त बाद महिलाओं की सुरक्षा के लिए गुड़िया हेल्पलाइन जबकि नशीले पदार्थो की तस्करी, अवैध खनन तथा अवैध कटान जैसी अवैध गतिविधियों पर अंकुश लगाने के लिए होशियार सिंह हेल्पलाइन की शुरूआत की गई।
उद्योग मंत्री बिक्रम सिंह ने कहा कि वर्तमान राज्य सरकार से क्षेत्र के लोगों को बहुत सी अपेक्षाएं हैं। उन्होंने कहा कि पिछली सरकार ने विकास के मामले में क्षेत्र की पूरी तरह से अनदेखी की।
सांसद अनुराग ठाकुर ने कहा कि जसवां परागपुर विधानसभा क्षेत्र राज्य का आदर्श विधानसभा क्षेत्र बनने की ओर अग्रसर है। उन्होंने कहा कि पिछली सरकार ने केन्द्रीय विश्वविद्यालय को लेकर राजनीति की तथा मामले को देहरा और धर्मशाला के बीच उलझा कर रखा। वर्तमान राज्य सरकार ने राज्य की सत्ता सम्भालने के तुरन्त पश्चात सुनिश्चित किया कि केन्द्रीय विश्वविद्यालय को शीघ्र क्रियाशील बनाया जाएगा। उन्होंने कहा कि हमीरपुर संसदीय क्षेत्र के लिए केन्द्र सरकार ने बिलासपुर में एम्स, केन्द्रीय विश्वविद्यालय, पीजीआई सेटेलाईट केन्द्र, भारतीय सूचना प्रौद्योगिकी संस्थान, हमीरपुर के लिए मेडिकल कॉलेज जैसे तोहफे दिए हैं। उन्होंने कहा कि जन धन योजना के अंतर्गत देशभर में 28 करोड़ बैंक खाते खोले गए।
खाद्य व नागरिक आपूर्ति मंत्री किशन कपूर, शहरी विकास मंत्री सरवीण चौधरी, विधायक रमेश धवाला, होशियार सिंह तथा राजेश ठाकुर, पूर्व मंत्री रविन्द्र रवि, पूर्व विधायक विजय अग्निहोत्री, दूलो राम तथा नवीन धीमान सहित अन्य गणमान्य व्यक्ति भी इस अवसर पर उपस्थित थे।