आने वाले तीन महीनों में लगाए जाएंगे एक लाख सीसीटीवी कैमरे

Haryana
By Admin

चण्डीगढ़, 20 जुलाई – हरियाणा के मुख्यमंत्री  मनोहर लाल ने कहा कि राज्य सरकार कानून एवं व्यवस्था की स्थिति बनाए रखने के लिए गम्भीर है। उन्होंने कहा कि राज्य पुलिस ने अपराधियों के नेटवर्क को तोड़ा है और इसी कडी में एक लाख सीसीटीवी कैमरे आगे आने वाले तीन महीनों में लगाए जाएंगे।

        यह जानकारी आज उन्होंने राज्य के विभिन्न कर्मचारी संगठनों की सामूहिक बैठक के उपरांत पत्रकारों से बातचीत के दौरान दी।

उन्होंने कहा कि फरीदाबाद में कांग्रेस प्रवक्ता विकास चौधरी तथा करनाल में डा० राजीव गुप्ता की हत्या निंदनीय है। उन्होंने कहा कि आंकड़ों के अनुसार पिछले वर्ष की तुलना में इस वर्ष अपराधों में कमी आई है। उन्होंने कहा कि अपराधियों के नेटवर्क को तोड़ा है। एक लाख सीसीटीवी कैमरे आगे आने वाले तीन महीनों में लगाए जाएंगे, जिनमें पुलिस के साथ-साथ आरडब्ल्यूए उद्योग, गैर सरकार संगठन, शैक्षक्षिण संस्थान, मार्केट कमेटियों ने सहयोग की पेशकश की है। अब तक प्रदेश में 2.25 सीसीटीवी कैमरे लगे हुए हैं।

        मुख्यमंत्री ने जानकारी देते हुए बताया कि मेरी फसल मेरा ब्यौरा योजना तथा जल ही जीवन योजना के लिए हरियाणा की सराहना नीति आयोग की बैठक में राज्यों के मुख्यमंत्रियों के कार्य समूह ने की है। उन्होंने कहा कि अब तक 1.35 लाख  किसानों ने अपनी फसल का ब्यौरा इस पोर्टल पर पंजीकृत करवाया है और कृषि विभाग के सत्यापन के बाद राजस्व विभाग रकबे का आंकडा तैयार करेगा। बाद में उपग्रह व ड्रोन के माध्यम से फसलों की तस्वीर ली जाएगी।

        इस अवसर पर मुख्य सचिव श्रीमती केशनी आनन्द अरोड़ा, मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव श्री राजेश खुल्लर, अतिरिक्त मुख्य प्रधान सचिव श्री वी ऊमांशकर, वित्त विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव श्री टीवीएसएन प्रसाद, परिवहन व बिजली विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव श्री टीसी गुप्ता, सहकारिता विभाग की अतिरिक्त मुख्य सचिव श्रीमती ज्योति अरोड़ा, जन स्वास्थ्य अभियांत्रिकी व चिकित्सा शिक्षा विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव श्री राजीव अरोड़ा, शिक्षा विभाग के प्रधान सचिव श्री महाबीर सिंह, श्रमायुक्त श्री नितिन यादव, सूचना, जन सम्पर्क एवं भाषा विभाग के महानिदेशक श्री समीर पाल सरो के अलावा अन्य विभागों के प्रशासनिक सचिव व हरियाणा कर्मचारी महासंघ, सर्व कर्मचारी संघ हरियाणा, हरियाणा राज्य कर्मचारी संघ तथा भारतीय मजदूर संघ के प्रतिनिधि उपस्थित थे।

Leave a Reply