हरियाणा : विधानसभा चुनावों में 1.83 करोड़ मतदाता करेंगे अपने माताधिकार का प्रयोग

Haryana
By Admin

चंडीगढ़ 11 सितंबर- हरियाणा में आगामी विधानसभा चुनावों में 1.83 करोड़ मतदाता अपने माताधिकार का प्रयोग करेंगे। इसके अलावा, मतदान प्रतिशत बढ़ाने के लिए हरियाणा मुख्य निर्वाचन अधिकारी कार्यालय द्वारा विशेष अभियान चलाया जाएगा जिसके तहत प्रत्येक विधानसभा क्षेत्र के बूथ को कवर किया जाएगा। इस अभियान में एक वाहन के माध्यम से आम जन को ईवीएम और वीवीपैट मशीन की जानकारी दी जाएगी।
यह जानकारी आज यहां भारत निर्वाचन आयोग द्वारा आयोजित आगामी विधानसभा चुनावों की तैयारियों की समीक्षा बैठक में दी गई। बैठक की अध्यक्षता भारत निर्वाचन आयोग के सीनियर डिप्टी इलेक्शन कमिश्नर  संदीप सक्सेना ने की। बैठक में आयोग के महानिदेशक (चुनाव खर्च)  दिलीप शर्मा भी उपस्थित थे।
बैठक के दौरान सीनियर डिप्टी इलेक्शन कमिश्नर  संदीप सक्सेना ने उपस्थित अधिकारियों को निर्देश दिए कि वे दिव्यांग मतदाताओं के लिए मतदान केंद्र पर मतदान हेतु विशेष प्रबंध करें ताकि मतदान के दिन उन्हें किसी प्रकार की कोई दिक्कत ना हो । उन्होंने कहा कि शहरी क्षेत्रों के साथ-साथ छोटे कस्बों में भी इस तरह की सुविधाएं देने का प्रयास किया जाए।
उन्होंने अधिकारियों को निर्देशित किया कि वे विधानसभा में खर्च के ब्योरे पर विशेष ध्यान दें। इसके साथ ही, कुल बूथों का 10 प्रतिशत से ज्यादा बूथों की वेब कॉस्टिंग की जाए। मतदान की संख्या बढ़ाने के लिए स्वीप गतिविधियों के बारे जानकारी और अपने-अपने जिले में मैनेजमेंट प्लान तैयार करें। इसके अलावा, उन्होंने पड़ोसी राज्यों के साथ लगते जिलों में नाका लगाने के भी निर्देश दिए ताकि किसी भी प्रकार की समस्या न हो और ऐसे राज्यों के अधिकारियों के साथ बैठक करने के भी निर्देश दिए।
बैठक में हरियाणा के मुख्य निर्वाचन अधिकारी अनुराग अग्रवाल ने बताया कि महिला मतदाताओं को जागरूक करने के लिए अभियान चलाया जा रहा है ताकि वे आने वाले विधानसभा चुनाव में अपने मत का प्रयोग कर सकें। इसके अलावा, राज्य के महाविद्यालयों में छात्रों को भी जागरूक किया जा रहा है जिनकी आयु 18 से 19 वर्ष के बीच है ताकि वे भी अपने मत का प्रयोग पहली बार कर सके और देश में लोकतंत्र को मजबूत बनाने में अपनी भागीदारी सुनिश्चित कर सकें। बैठक के दौरान  अनुराग अग्रवाल ने बताया कि यदि अभी तक किसी नागरिक का वोट नहीं बना है और वह 1 जनवरी 2019 को 18 वर्ष या इससे अधिक आयु का हो गया है तो वह जल्द से जल्द अपना वोट बनवाकर लोकतंत्र अपनी भागीदारी सुनिश्चित करें।
मुख्य निर्वाचन अधिकारी ने बताया कि फोटोयुक्त मतदाता सूचियों का द्वितीय विशेष संक्षिप्त पुनरीक्षण अभियान के तहत अंतिम प्रकाशन कर दिया गया है और इस विशेष अभियान के तहत मतदाताओं के नाम जोडऩे और काटने की प्रक्रिया के बाद हरियाणा में कुल मतदाताओं की संख्या 1,82,98,714 है। इस मतदाता सूची की कॉपी सभी राजनैतिक दलों के प्रतिनिधियों को दे दी गई है। उन्होंने बताया कि 15 जुलाई 2019 को प्रकाशित ड्राफ्ट रॉल के अनुसार राज्य में मतदाताओं कि संख्यां 1,79,69,515 थी। इस विशेष अभियान के तहत 2,69,201 नाम जोड़े गए और 47,488 नाम काटे गए। इस प्रकार नेट जोड़ 2,21,713 है। अंतिम प्रकाशन के बाद मतदाताओं की संख्या 1,82, 98,714 हैं जिसमें 97,30,169 पुरूष व 84,60,820 महिलाएं, 239 ट्रांसजेंडर वोटर और सर्विस वोटर की संख्या 107486 है।
बैठक में बताया गया कि फरीदाबाद, मेवात, पलवल, जींद, सिरसा, यमुनानगर और पंचकूला जिलों में महिला वोटरों की संख्या बढ़ाने के लिए संबंधित जिला निर्वाचन अधिकारी महिलाओं को वोट बनवाने के लिए प्रेरित करे।
अनुराग अग्रवाल ने कहा कि यदि अभी तक किसी ने वोट नहीं बनवाया है और वह 1 जनवरी 2019 को 18 वर्ष या इससे अधिक आयु का हो गया है तो वह अब भी वोट बनवा सकता है। इसके लिए पात्र व्यक्ति संबंधित बी.एल.ओ, निर्वाचन पंजीयन अधिकारी, सहायक निर्वाचन पंजीयन अधिकारी के पास फॉर्म-6 भरकर वोट बनवा सकता है। यह फॉर्म निर्वाचन विभाग की वेबसाइट  www.ceoharyana.nic.in  पर भी उपलब्ध है जो डाउनलोड किए जा सकते हैं। इसके अलावा   www.nvsp.in पर ऑनलाइन माध्यम से भी वोट बनवा सकते हैं। वोट बनवाने के लिए दो पासपोर्ट साइज रंगीन फोटो, अपने निवास और आयु प्रमाण पत्र के साथ ऑफलाइन या ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं।
अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक और विधानसभा चुनाव के लिए राज्य नोडल अधिकारी  नवदीप सिंह विर्क ने विधानसभा चुनावों के लिए एक प्रस्तुति दी जिसमे उन्होंने बताया कि प्रदेश में 258 नाका चालु किये गए है। उन्होंने बताया कि 38 हथियार जब्त किये गए है, 40862 लाइसेंस आर्म जमा किये गए हैं, 156 व्यक्तिओ को गिरफ्तार किया गया और 120 व्यक्तियों को बाउंड किया गया है। उन्होंने बताया कि बॉर्डर मीटिंग का शेडयूल बनाया गया है और जल्द ये मीटिंग होंगी। उन्होंने बताया कि पड़ोसी राज्यों के साथ लगते इलाकों में 268 नाका लागये जाएंगे।
बैठक में डीआईजी और विधानसभा चुनाव के नियुक्त डिप्टी स्टेट पुलिस नोडल अधिकारी राकेश आर्य, अतिरिक्त मुख्य निर्वाचन अधिकारी डी. के.बेहरा, संयुक्त मुख्य निर्वाचन अधिकारी डॉ. इन्द्र जीत व  अपूर्व उपस्थित थे।

Leave a Reply