हाईकोर्ट ने कहा, अगर कुछ गलत हुआ तो अकेले कुलवंत सिंह उसके दोषी नहीं -सदन में प्रस्ताव पास कर जो फैसला हुआ उसमे सिर्फ मेयर को दोषी ठहरना सरकार की गलती-मोहाली मेयर कुलवंत सिंह मामले में आया हाईकोर्ट का फैसला

Web Location
By Admin

मोहाली के मेयर कुलवंत सिंह के मामले में हाईकोर्ट ने साफ़ कर दिया है कि जिस मामले में सरकार ने अकेले कुलवंत सिंह दोषी ठहराया है, वह फैसला अकेले कुलवंत सिंह का नहीं बल्कि पुरे सदन का थाl  ऐसे में सिर्फ अकेले मेयर को दोषी नहीं ठराया जा सकताl 

जस्टिस दया चौधरी ने वीरवार देर शाम कुलवंत सिंह के मामले में अपने डिटेल आर्डर जारी करते हुए कहा कि कुलवंत सिंह के खिलाफ व्यक्तिगत तौर पर किसी भी तरह के मिस्कंडक्ट, अक्षमता या ऐसा कोई आरोप नहीं हैl उनके खिलाफ सिर्फ आरोप है कि उन्होंने मेयर के पद पर रहते अपने पद का दुरूपयोग कर निगम के फंड्स का नुकसान किया हैl हाईकोर्ट ने फैसले में कहा जहाँ तक पुरे रिकॉर्ड देखने की बात है तो उन पर लगा यह आरोप साबित नहीं होता हैl

हाईकोर्ट ने कहा कि जिस मशीन की कई गुना महंगे दामों पर खरीद का आरोप मेयर पर लगाया है, वह फैसला मेयर कुलवंत सिंह ने अकेले अपने दम पर नहीं लिया थाl यह फैसला अन्य पार्षदों की सहमति से सदन में लिया गयाl लिहाजा इस मामले में अकेले कुलवंत सिंह दोषी नहीं माना जा सकता हैl  कुलवंत सिंह बतौर मेयर के पद पर रहते इस मामले में अकेले निर्णय ले ही नहीं सकते थे और किसी भी रिकॉर्ड से साबित नहीं किया गया कि उन्होंने महंगे दामों पर मशीन की खरीद की थी ऐसा कोई तुलनात्मक डाटा पेश ही नहीं किया गयाl 

हाईकोर्ट ने कहा कि यह साफ़ तौर पर मेयर के साथ भेदभाव है और इस मामले में उन्हें अकेले दोषी ठहरा गयाl अगर कुछ गलत हुआ भी था तो उसके लिए निगम के वह अधिकारी जिम्मेदार हैं, जो निगम के दैनिक कार्यों की निगरानी करते हैंl इन अधिकारीयों को भी इस मामले में मेयर के साथ ही दोषी ठहराया जाना चाहिए थाl लिहाजा हाई कोर्ट ने कहा कि सरकार ने पद के दुरपयोग के आरोप लगा कुलवंत सिंह को जो नोटिस भेजा है वह पूरी तरह से आधारहीन हैl ऐसे में हाईकोर्ट ने इस नोटिस को रद्द करते हुए  सरकार को आदेश दिए हैं कि वो अगर इस मामले की जाँच करवाना चाहती है तो तय नियम और कानून के तहत मामले की जाँच कर सकती हैl 

Leave a Reply