लोक निर्माण मंत्री ने एक्सीयन को किया निलंबित, एसई को कारण बताओ नोटिस व एसडीई व जूनियर इंजीनियर को किया चार्जशीट

re
By Admin

गुणवत्ता के मानकों पर खरा न उतर सका अबोहर का बाईपास

– सिंगला ने लोक निर्माण विभाग कर्मचारियों को गुणवत्ता के मामले में कोई भी समझौता न करने की दी सलाह
चंडीगढ़, 16 मई:
अबोहर बाईपास के निर्माण की निगरानी के दौरान की गई कोताही व अनियमितताओं का सख्त नोटिस लेते पंजाब के लोक निर्माण मंत्री विजय इंद्र सिंगला ने संबंधित एक्सीयन को निलंबित कर दिया व निर्माण के कार्य के निरीक्षण दौरान की गई लापरवाही व अनियमितता पर नियम 10 के अंतर्गत एसई को कारण बताओ नोटिस जारी किया गया है, जबकि संबंधित एस.डी.ई व जूनियर इंजीनियर को भी नियम 8 के अनुसार चार्जशीट किया है।
डिफाल्टरों को लंबे हाथ लेते हुए श्री सिंगला ने कहा कि कैप्टन अमरिंदर सिंह के नेतृत्व वाली पंजाब सरकार में निर्माण सामग्री की गुणवत्ता में किसी किस्म की कोताही या समझौता बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। गुणवत्ता के मामले में की हर छोटी-बड़ी अनियमितता को संजीदगी से लिया जाएगा ताकि जान-माल का किसी भी किस्म के नुक्सान से बचा जा सके।
उन्होंने कहा कि लोगों की ओर से चुने प्रतिनिधियों के तौर पर लोगों के एक-एक पैसे को सही तरीके व सही स्थान पर खर्च किए जाने को यकीनी बनाना मेरी जिम्मेदारी है। सिंगला ने स्पष्ट किया कि पूरे प्रदेश को मेरा संदेश साफ व स्पष्ट है कि सडक़ें व पुल किसी भी आर्थिक गतिविधि की रीढ़ माने जाते हैं व किसी भी कम गुणवत्ता वाले निर्माण को बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। विभाग के कर्मचारियों को कमर कसनी होगी और चौकन्ना होना होगा नहीं तो उनको गंभीर परिणाम भुगतने पड़ सकते हैं।
वर्णनीय है कि 14 मई 2018 को लोक निर्माण मंत्री ने विभाग के सचिव श्री हुसन लाल व क्वालिटी कंट्रोल टीम के सहयोग के साथ अबोहर बाईपास के निर्माण कार्य का जायजा लिया था। दो घंटे तेज धूप व गर्मी के बावजूद श्री सिंगला ने निजी तौर पर सैंपलिंग करवाई व निर्माण कार्य का जायजा लिया। क्वालिटी कंट्रोल टीम ने निर्माण में उपयोग किए गए सामान जैसे की तारकोल, टाइलों आदि सामग्री का जायजा लिया। इस प्रत्यक्ष जांच ने यह स्पष्ट कर दिया कि 10 दिन पहले उपयोग की गई टाइलों में बहुत सी टूटी व दरार वाली थी। यह भी देखा कि कांट्रेक्ट व दर्शाई गई शर्तों के अनुसार टाइलों को लगाने के लिए उपयुक्त सीमेंट का प्रयोग नहीं किया गया। मौके पर लिए गए सैंपलों को रिसर्च लैब भेजा गया व प्रारंभिक जांच के बाद मौके पर लिए गए सैंपल घटिया गुणवत्ता के पाए गए।
सिंगला ने कहा कि इस मामले की विस्तृत जांच की जाएगी व ठेकेदार के खिलाफ जरुरी कदम उठाने जाएंगे और किसी दोषी को भी बख्शा नहीं जाएगा।