राहुल गांधी को पार्टी प्रधान बनाने के पीछे कोई परिवारवाद नहीं: कैप्टन अमरिंदर सिंह

re
By Admin
संपूर्ण पार्टी राहुल के समर्थन में एकजुट
राहुल गांधी को 2019 में कांग्रेस के प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार के तौर पर भी सिफारिश करेंगेे
नई दिल्ली, 4 दिसंबर:
पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने राहुल गांधी के अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष बनने पर लग रहे परिवारवाद के दोषों को सिरे से रद्द करते हुए कहा कि राहुल गांधी को बीते समय में गुजरात चुनाव प्रचार आदि के दौरान मिले भारी एवं ज़बरदस्त समर्थन उनकी देश के लोगों में बड़े स्तर पर लोकप्रियता और लोगों के भरोसे के आधार को दर्शाता है।
श्री राहुल गांधी की अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के सर्वोच्च पद के लिए नामांकन के पश्चात पत्रकारों से अनौपचारिक बातचीत करते हुये कैप्टन अमरिंदर सिंह ने कहा कि कांग्रेस के उपाध्यक्ष को लोगों का पूरा समर्थन है और पार्टी के समस्त कैडर उनको अध्यक्ष बनाने के पक्ष में है। अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के चुनाव को पार्टी का अंदरूनी मामला बताते हुये कैप्टन अमरिन्दर सिंह ने कहा कि यहां तक कि एक सोच वाली पार्टियों को भी राहुल गांधी के कांग्रेस की कमांड संभालने पर कोई आपत्ति नहीं है।
   शहजाद पूनावाला द्वारा पार्टी अध्यक्ष के होने वाले चुनाव के मुद्दे पर की गई तीखी टिप्पणी संबंधी प्रश्न के उत्तर में कैप्टन ने उसकी नीयत पर प्रश्न उठाते हुये कहा कि पूनावाला जो भी कहता है कोई भी उसकी परवाह नहीं करता।
2019 की लोकसभा चुनाव के दौरान राहुल गांधी को कांग्रेस पार्टी के प्रधानमंत्री के पद के लिए उम्मीदवार के तौर पर उभारने का न्योता देते हुए कैप्टन अमरिंदर सिंह ने कहा कि नौजवान राहुल गांधी ने अपने सामथ्र्य से नौजवानों को पार्टी के साथ ही नहीं जोड़ा बल्कि पार्टी में एक नया जोश भी पैदा कर दिया है।
उन्होंने कहा कि राहुल गांधी के स्वभाव में सीखने की जिज्ञासा है जो आज के दौर में पूरे खरे उतरते हैं और यदि पार्टी राहुल को अगले संसदीय चुनाव में प्रधानमंत्री के पद के लिए उम्मीदवार के तौर पर पेश करती है तो उनकी यह ख़ूबियां पार्टी के लिए वरदान साबित होंगी।
गुजरात चुनाव संबंधी मुख्यमंत्री ने कहा कि उस राज्य में कांग्रेस पक्षीय लहर पूरे जोर पर है और प्रधानमंत्री के चुनाव अभियान के मुकाबले राहुल गांधी की रैलियों को भारी समर्थन मिला है।
इसके पश्चात एक टी.वी. चैनल के साथ मुलाकात के दौरान कैप्टन अमरिंदर सिंह ने पंजाब में आगामी     नगर-निगम मतदान का जि़क्र करते हुए कहा कि हर चुनाव एक चुनौती होता है और इस संबंध में लोगों की उम्मीदें बहुत बड़ी हैं। उन्होंने बताया कि उनकी सरकार विधानसभा चुनाव के दौरान लोगों के साथ किये गये वायदों को चरणबद्ध ढंग से लागू कर रही है और किसानों की कजऱ् माफी भी इसी महीने शुरू हो जायेगी।
 उन्होंने कहा कि आम आदमी पार्टी (आप) अपने पतन की ओर अग्रसर है जबकि अकालियों के प्रति अभी भी लोगों के मन में गुस्सा है और यदि आज फिर से चुनाव करवाये जायें तो उन्हें पुन: हार का सामना करना पड़ेगा। उन्होंने कहा कि अकालियों ने सबकुछ बर्बाद कर दिया है और उनकी सरकार इन सभी चीजों को ठीक करने हेतू प्रयास कर रही है। मुख्यमंत्री ने बेअदबी की घटनाओं का उल्लेख करते हुये कहा कि कांग्रेस की सरकार बनने के पश्चात ऐसे मामले बहुत कम हो गये हैं। इसी तरह नशों के व्यापारियों की कमर भी तोड़ दी गई है और अब राज्य में नशा असानी से उपलब्ध नही है। उन्होंने कहा कि ड्रग्ज माफिया के सरगना राज्य छोडक़र भाग गये हैं जिनको पकडऩे के लिए विशेष टॉस्क फोर्स पीछे लगी हुई है।
आप नेता सुखपाल सिंह खैहरा के विरूद्ध नशे के मामलों संबंधी पूछे गये एक प्रश्न पर मुख्यमंत्री ने खैहरा  को अति महत्वकांक्षी राजनीतिज्ञ और एक अस्थिर व्यक्ति बताया जिस संबंधी टिप्पणी करना भी व्यर्थ है। उन्होंने स्पष्ट किया कि खैहरा के विरूद्ध केस 2015 में दर्ज हुआ है जिससे कांग्रेस का कोई संबंध नही है और अब यह केस न्यायालय में है।
कैप्टन अमरिंदर ने दोहराया कि योजनाबद्ध ढंग से की गई हत्याओं के मामले एन आई ए को सौंपने का निर्णय का जिक्र करते हुये कहा कि केंद्रीय एजेंसी इस तरह के मामलों क ी जांच करने में अधिक सक्षम है क्योंकि इन मामलों का संबंध अंतरराष्ट्रीय स्तर पर है।
गत् अकाली शासन के दौरान दर्ज किये गये झूठे केसों संबंधी पूछे जाने पर मुख्यमंत्री ने कहा कि जस्टिस मेहताब सिंह गिल कमीशन गिल द्वारा की गई सिफारिशों पर कार्यवाही आरंभ कर दी गई है। उन्होंने कहा कि राजनीतिज्ञों को यह बात समझ लेनी चाहिए कि वे विपक्षीयों को फंसाने के लिए  झूठे केस दर्ज नही करवा सकते और उनकी सरकार ऐसा होने की कतई आज्ञा नही देगी।