#भारत निर्वाचन आयोग की वेबसाइट पर कल सवेरे आठ बजे से पांच राज्यों की विधान सभा चुनावों के वोटों की गिनती के रूझान और परिणाम मिलने लगेंगे

nation
By Admin

एक नई पहल : भारत निर्वाचन आयोग की वेबसाइट पांच राज्यों की विधान सभा चुनावों पर 2012 के चुनाव से तुलना करते हुए विश्लेषण उपलब्ध कराएगी

निर्वाचन आयोग ने अपनी लोकप्रिय वेबसाइट www.eciresults.nic.in के माध्यम से फरवरी-मार्च 2017 में हुए पांच राज्यों की विधान सभा चुनाव के वोटों की गिनती के रुझान और परिणामों के प्रसार के लिए रुदृढ़ औरपूरी तरह सुरक्षित बुनियादी सुविधा तैयार की है। रुझान और परिणाम इस वेबसाइट पर सवेरे आठ बजे से मिलने लगेंगे और रूझान को निरंतर अद्यन रूप में प्रस्तुत किया जाएगा। आईटी सोल्यूशन राउंड के अनुसार चुनाव लड़ रहेउम्मीदवारों द्वारा प्राप्त वोटों को कैप्चर करता है और संकलन के बाद विधान सभा निर्वाचन क्षेत्र के अनुसार, राजनीतिक दल के अनुसार और उम्मीदवार के अनुसार रुझानों को दिखाता है। इस वेबसाइट का अपना एक रिकार्ड हैएक दिन में बड़ी संख्या में 36 मिलियन से 16 बिलियन हिट्स रूझान के दौरान मिले हैं। वेबसाइट भारत निर्वाचन आयोग के मुख्य आधिकारिक वेबसाइट www.eci.nic.in के माध्यम से एक्सेस किया जा सकता है।

पहली बार भारत निर्वाचन आयोग इनटएक्टिव डैशबोर्ड के जरिये विश्लेषण उपलब्ध कराएगा

भारत निर्वाचन आयोग जनसाधारण के उपयोग के लिए पहली बार 12.03.2017 को इनटएक्टिव डेसबोर्ड अवधारणा साक्ष्य के रूप में प्रस्तुत कर रहा है। इसमें अधिकारिक वेबसाइट (www.eci.nic.in ) पर डाटा औरविश्लेषण दोनों होंगे। विश्लेषण यूजर सक्षम रूप में प्राप्त होगा, क्लिक करते ही इन्फोग्राफिक्स के माध्यम से मूल्यवान और दिलचस्प जानकारी मिलेगी। यूजर डाटा, क्रॉसटैग, पीडीएफ और इमेज को अपनी ओर से चुनावविश्लेषण करने के लिए डाउनलोड कर सकते हैं। इसमें 2012 और 2017 के तुलनात्मक विश्लेषण शामिल होगा। यूजर मतदाताओं (अधिक महिला मतदाताओं वाले मतदान क्षेत्र, मतदाताओं के घऱ से निकलने के मुताबिक निर्वाचनक्षेत्र और मतदान दिवस के दिन मतदान के अनुसार निर्वाचन क्षेत्र) तथा उम्मीदवारों की लिंगानुसार भागीदारी, विजेताओं और प्रमुख प्रतिद्वदियों के संबंध में निर्वाचन क्षेत्र विश्लेषण प्राप्त कर सकेंगे। इसमें राजनीतिक दलों केप्रदर्शन की समीक्षा, राजनीतिक दलों द्वारा जीती गई सीटों का विश्लेषण और राज्य में मतदान हिस्सा प्रतिशत तथा मतदाता के प्रोफाइल (आयु और सामाजिक श्रेणी) को शामिल किया गया है। उम्मीदवारों को निर्वाचन क्षेत्रों केअनुसार और उनके पक्ष में पड़े वोटों के अनुसार रखा गया है।

Leave a Reply