बेअदबियों के मुद्दे पर ‘आप’ विधायक कैप्टन के घर के समीप भूख हड़ताल पर बैठे

Punjab
By Admin


पुलस ने सिफऱ् 4 विधायकों को ही दी इजाजत
कैप्टन की सो रही आत्मा को जगाने के लिए बैठे हैं -‘आप’ आगू

चंडीगढ़, 6 अक्तूबर 2018 
श्री गुरू ग्रंथ साहिब समेत धार्मिक ग्रंथों की बेअदबियों और बहबल कलां गोली कांड के दोषियों की तुरंत गिरफ्तारी और सख्त सजा की मांग करते आम आदमी पार्टी (आप) पंजाब के विधायकों और संसद सदस्यों ने यहां मुख्य मंत्री कैप्टन अमरिन्दर सिंह की सरकारी रिहायश के समीप एक दिवसीय भूख हड़ताल और रोष धरना लगाया।
विरोधी पक्ष के नेता हरपाल सिंह चीमा, संसद मैंबर प्रो. साधू सिंह और ‘आप’ स्टेट कोर समिति के चेयरमैन प्रिंसिपल बुद्ध राम के नेतृत्व में ‘आप’ नेता जैसे ही 2 सैक्टर स्थित मुख्य मंत्री के सरकारी निवास की तरफ बढ़े पहले ही भारी संख्या में तैनात पुलिस फोर्स ने रोक लिया। पुलिस आधिकारियों ने वीवीआईपी सक्यिूरिटी जोन का हवाला देते हुए’आप’नेताओं को जोर जबरदस्ती के साथ पीछे धकेलना शुरू कर दिया। परंतु ‘आप’ नेता वहीं ही धरने और भूख हड़ताल पर बैठने के लिए अड़े रहे जिससे मुख्य मंत्री कैप्टन अमरिन्दर सिंह की सो रही आत्मा को जगाया जा सके।


‘आप’नेताओं के सख्त इरादे भांपते पुलिस ने इस वीवीआईपी में सुरक्षा कारणों के चलते धारा 144 लागू होने का हवाला दिया आखिर काफी कशमकश उपरांत सिर्फ 4 विधायकों को ही मुख्य मंत्री के घर के नजदीक पार्क में भूख हड़ताल पर बैठने की इजाजत दी। इस पर हरपाल सिंह चीमा, अमन अरोड़ा, प्रो. साधू सिंह और प्रो. बलजिन्दर कौर भूख हड़ताल पर बैठ गए, बाद में प्रो. साधू सिंह की जगह प्रिंसिपल बुद्ध राम बैठे। दूसरे विधायकों में विरोधी पक्ष की उप नेता सरबजीत कौर माणूंके, कुलतार सिंह संधवां, मीत हेयर और अमरजीत सिंह सन्दोआ भी पहुंचे।
इस से पहले यह ‘आप’ नेता गुरुद्वारा नाढा साहिब (पंचकुला) में नतमस्तक हुए और श्री गुरु ग्रंथ साहिब के समक्ष बेअदबियों और बहबल कलां गोली कांड के लिए जिम्मेदार दोषियों को गिरफ्तार करने और सजा देने से भाग रहे मुख्य मंत्री कैप्टन अमरिन्दर सिंह को सीख दें और उनकी सो रही आत्मा को जगाने के लिए अरदास की।
इस मौके मीडिया को संबोधन करते हुए हरपाल सिंह चीमा और अमन अरोड़ा ने कहा कि आम आदमी पार्टी बेअदबियों और बहबल कलां गोली कांड के दोषियों को सजा और हृदय वलूंधरी संगत इंसाफ के लिए पिछले तीन सालों से लाखों की संख्या में बरगाड़ी जा रही है, जिस के अंतर्गत कल 7 अक्तूबर को बतौर संगत ‘आप’ विधायक, संसद मैंबर और वालंटियर भी बरगाड़ी में नतमस्तक होने जा रहे हैं, परन्तु क्योंकि संगत को इंसाफ और दोषियों को सजा मुख्य मंत्री कैप्टन अमरिन्दर सिंह ने देनी है, इस लिए आज ‘आप’ विधायकों और संसदों की तरफ से यहां कैप्टन अमरिन्दर सिंह की कोठी के समक्ष भूख हड़ताल और संकेतक रोष धरना रखा गया तो मुख्य मंत्री कैप्टन अमरिन्दर सिंह की अंतर आत्मा जागे और उनमें दोषियों को तुरंत गिरफ्तार करने की हिम्मत आ सके।
‘आप’ नेताओं ने कैप्टन अमरिन्दर सिंह पर बादलों के साथ मिले होने और उन को बचाने के दोष भी लगाए। अमन अरोड़ा ने कहा कि कैप्टन अमरिन्दर सिंह जस्टिस रणजीत सिंह कमीशन की रिपोर्ट अनुसार दोषियों पर कार्यवाही से भाग रहे हैं। हरपाल सिंह चीमा ने बताया कि कुरान -शरीफ बेअदबी केस की संगरूर की अदालत में चल रही सुनवाई दौरान कैप्टन सरकार ने जस्टिस रणजीत सिंह कमीशन की सिफारिशों के बिल्कुल उलट स्टैंड ले कर अपने अपवित्र इरादे स्पष्ट कर दिए हैं। उन्होंने कैप्टन और बादलों पर बरगाड़ी से ध्यान भटकाने के लिए रैली -रैली का फ्रैंडली मैच खेलने का भी दोष लगाया।
आज के दिन की भूख हड़ताल उपरांत शाम को मुख्य मंत्री कैप्टन अमरिन्दर सिंह के ओ.एस.डी सन्दीप बराड़ मांग पत्र लेने पहुंचे। मांग पत्र के साथ पैन ड्राइव में कांग्रेसी मंत्रियों की तरफ से सदन में बादलों और अन्य  सभी दोषियों की तुरंत गिरफ़्तारी की झोलियां फैला कर फरियाद करते हुए की वीडियो भी भेजी जिससे सो रही जमिर को किसी न किसी तरीके जगाया जा सके। मांग पत्र दिए जाने के उपरांत विधायकों ने एक रोजा भूख हड़ताल और संकेतक धरना उठा दिया।

Leave a Reply