प्रत्येक किसान को बिजली उत्पादक बनाने के लिए पंजाब सरकार नत्थू चाहल में शुरू करेगी पायलट प्रोजैक्ट -राणा गुरजीत सिंह

Punjab
By Admin

     बिजली सब्सिडी बचाने के लिए इस प्रोजैक्ट को जल्दी ही राज्य भर में लागू किया जाएगा

     ट्यूबवैल कनैक्शन पर आधारित छोटे सौर ऊर्जा प्रोजैक्ट भू जल को बचाने में भी होंगे सहायक

     सस्ती और प्रदूषण रहित ऊर्जा, बिजली बचत वाले उपकरण और बिजली वाहन प्रदूषण एवं महँगाई घटाने के साथ-साथ विकास की चाबी हैं

       ‘उजाला’ योजना के प्रचार के लिए 16 वैनों को दी हरी झंडी

साहिबजादा अजीत सिंह नगर (मोहाली), 10 जनवरी

बिजली और सिंचाई मंत्री राणा गुरजीत सिंह ने आज यहाँ ऐलान किया कि राज्य के प्रत्येक किसान को बिजली उपभोक्ता से बिजली उत्पादक बनाने की दिशा में महत्वपूर्ण कदम उठाते हुयेे पंजाब सरकार कपूरथला जि़ले के नत्थू चाहल फीडर में पायलट प्रोजैक्ट शुरू करने जा रही है। इस प्रोजैक्ट के अंतर्गत किसान न सिफऱ् सौर ऊर्जा पर चलने वाले ट्यूबवैलों से अपने खेतों की सिंचाई कर सकेंगे बल्कि प्रयोग में न होने पर वह यह ऊर्जा बेच भी सकेंगे।

????????????????????????????????????

    नत्थू चाहल के 100 प्रतिशत कृषि फीडर अधीन 63 ट्रांसफार्मर हैं जिन से 1899 हार्स पावर वाले 178 पंपों को बिजली मुहैया की जाती और प्रति पंप औसतन 10.66 हार्स पावर का भार है। इस फीडर के द्वारा अगस्त 2016 से अक्तूबर 2017 तक कुल 23.76 लाख यूनिट बिजली की खपत हुई। 6 रुपए प्रति यूनिट के हिसाब से  इसकी 142.56 लाख रुपए की प्रति वर्ष सब्सिडी बनती है।

    इस पायलट प्रोजैक्ट की घोषणा राणा गुरजीत सिंह ने आज यहाँ ‘उजाला’ प्रोग्राम के प्रति जागरूकता मुहिम शुरू करने के लिए करवाए गए समागम को संबोधन करने दौरान किया। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह के नेतृत्व अधीन पंजाब सरकार राज्य के तेज विकास के लिए वचनबद्ध है और इस लिए विलक्षण विचारों और तकनीकों को भी अमल में लाया जा रहा है। राणा गुरजीत सिंह, जो स्वयं भी बिजली उत्पादन के क्षेत्र में माहिर हैं, उन्होंने कहा कि इस पायलट प्रोजैक्ट का प्रयोग इस प्रोजैक्ट की कामयाबी के परीक्षण के लिए किया जाएगा ताकि अगामी 5 सालों दौरान इस प्रोजैक्ट को सफलता पहले राज्य भर में लागू किया जा सके।

    इस प्रोजैक्ट की महत्ता पर रौशनी डालते हुये राणा गुरजीत सिंह ने कहा कि इस प्रोजैक्ट के पूर्ण रूप में लागू होने से न सिफऱ् पंजाब के प्रत्येक किसान को अतिरिक्त आय प्राप्त होगी बल्कि सरकार द्वारा प्रत्येक वर्ष कृषि के लिए बिजली सब्सिडी पर ख़र्च किये जा रहे 7000 करोड़ रुपए की भी बचत होगी। उन्होंने बताया ‘इस प्रोजैक्ट के अंतर्गत किसानों की ट्यूबवैल मोटरों को बिजली बचत वाली 5 स्टार मोटरों के साथ तबदील कर दिया जायेगा जो सौर ऊर्जा से चलेंगी और प्रयोग में न होने के समय  किसान यह सौर ऊर्जा बेच सकेंगे। इस स्वरूप किसान अपने ट्यूबवैल सिफऱ् ज़रूरत समय ही चलाऐंगे जिस से भू जल का दुरुपयोग भी रुकेगा।’

‘उजाला’ योजना के प्रचार के लिए विशेष गाड़ीयाँे को झंडी देने के अवसर पर  पत्रकारों से बातचीत करते हुये, राणा गुरजीत सिंह ने कहा कि इस प्रोग्राम के अंतर्गत पंजाब भर में सस्ते मूल्य पर बल्ब, ट्यूबों और पंखे मुहैया करवाए जा रहे हैं जिस का बहुत सी लोग लाभ उठा रहे हैं। उन्होंने कहा कि इस योजना प्रति लोगों को ओर जागरूक करने और बिजली बचत वाले उपकरणों का प्रयोग के लिए लोगों को उत्साहित करने के लिए एनर्जी ऐफीशैंसी सर्विसिज लिमिटेड (ई.ई.एस.एल) द्वारा पंजाब सरकार के साथ मिल कर प्रचार मुहिम चलाने का फ़ैसला किया गया है जिस के अंतर्गत आज 16 प्रचार वाहनों को हरी झंडी दी गई है। उन्होंने यह योजना शुरू करने के लिए प्रधान मंत्री श्री नरेन्द्र मोदी की तारीफ़ करते हुये कहा कि इस योजना स्वरूप देश भर में बिजली की बहुत बचत हो रही है।

   उनसे पहले समागम को संबोधन करते  हुये मोहाली से विधायक स. बलबीर सिंह सिद्धू, अतिरिक्त मुख्य सचिव ऊर्जा श्री सतीश चंद्रा और ई.ई.एस.एल के रीजनल मैनेजर (पंजाब) श्री नितिन भट्ट ने सस्ती और प्रदूषण रहित ऊर्जा उत्पादन, बिजली बचत वाले उपकरण और बिजली वाहन प्रदूषण और महँगाई घटाने साथ-साथ तरक्की की चाबी बताया। इस मौके पर पी.एस.पी.सी.एल के चेयरमैन कम मैनेजिंग डायरैक्रट श्री ए. वेणू प्रसाद, मुहाली के डिप्टी मेयर श्री रिशव जैन और स. बलबीर सिंह सिद्धू के सियासी सलाहकार श्री हरकेश चंद शर्मा भी हाजिर थे।

Leave a Reply