पंजाब सरकार और पंजाबियों द्वारा मदद के मुरीद हुए केरल वासी

Punjab
By Admin
– मानवता की सेवा के संकल्प को पंजाबियों ने शानदार ढंग से निभाया
– पंजाब से 10 जहाजों के द्वारा 283 टन खाद्य सामग्री केरल पहुँची – सरकारिया
चण्डीगढ़, 25 अगस्त:
 बाढ़ की मार से ग्रस्त केरल राज्य की पंजाब सरकार और पंजाबियों द्वारा की गई मदद का केरल निवासी गुण गाते नहीं थक रहे हैं। इस संकट की घड़ी में जहाँ पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिन्दर सिंह द्वारा 10 करोड़ रुपए की आर्थिक और खाद्य सामग्री के द्वारा सहायता की गई है वहीं सभी कांग्रेसी विधायकों और लोकसभा सदस्यों ने अपना एक महीने का वेतन केरल बाढ़ पीडि़तों की सहायता के लिए दान में देने का भी फ़ैसला किया है।
मुख्यमंत्री द्वारा मिली हिदायतों के बाद राजस्व और आपदा प्रबंधन मंत्री श्री सुखबिन्दर सिंह सरकारिया ने 18 अगस्त को एक तीन सदस्यीय टीम राहत सामग्री सहित केरल भेजी थी जोकि तिरुवनंतपुरम में तैनात है और राहत कार्यों को बढिय़ा ढंग से अंजाम देने के लिए केरल सरकार के साथ तालमेल कर रही है। इस टीम में से मौजूदा समय में फिल्लौर के तहसीलदार श्री तपन भनोट और फतेहगढ़ साहिब के तहसीलदार श्री गुरजिन्दर सिंह वहीं हैं जबकि राजस्व विभाग के लैंड रिकार्डज़ के डायरैक्टर श्री बसंत गर्ग बीते दिनों ही वापस आए हैं।
पंजाब सरकार द्वारा अब तक वायु सेना के 10 जहाजों द्वारा 283 टन खाद्य सामग्री केरल भेजी जा चुकी है जिसमें पहले से ही तैयार भोजन के पैकेट, बिस्कुट, रस, चीनी, चाय, सुखा दूध और पीने वाले पानी की बोतलें शामिल हैं। बीती देर शाम जब 10वां जहाज़ तिरुवनंतपुरम हवाई अड्डे पर उतरा तो सामान उतारने वाले वालंटियरों की एक टीम स्थानीय कोर्डीनेटर श्री रामाकृष्णन के नेतृत्व में पंजाब की टीम को मिली और उन्होंने नारे लगाकर पंजाब और पंजाबियों का धन्यवाद किया।
 इस दौरान अनौपचारिक बातचीत करते हुए वायु सेना के कई अधिकारियों ने बताया कि अब तक सब से अधिक राहत सामग्री पंजाब से ही आई है और मानवता की सेवा के संकल्प को पंजाबी शानदार ढंग से निभा रहे हैं।
मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिन्दर सिंह पहले ही कह चुके हैं कि आवश्यकता के अनुसार केरल के लिए और राहत सामग्री भी एकत्रित की जायेगी। राजस्व और आपदा प्रबंधन मंत्री श्री सुखबिन्दर सिंह सरकारिया ने राहत कार्यों में पंजाबियों को आगे आने की अपील की है।

Leave a Reply