धान की 12500 बोरियों से भरे बिहार से आए 17 ट्रक काबू

Punjab
By Admin
खाद्य एवं सिविल स्पलाई मंत्री द्वारा राज्य के मंडी बोर्ड और खाद्य एवं सिविल सप्लाई विभाग में बढिय़ा तालमेल पर ज़ोर
खाद्य मंत्री धान/चावलों के ट्रकों की अंतरराज्यीय आवाजाई संबंधी रोज़मर्रा के आधार पर सूचना मुहैया करवाने बारे मंडी बोर्ड को लिखेंगे
चंडीगढ़, 1 नवंबर:
    खाद्य और सिवल स्पलाई विभाग ने पिछली रात सस्ते धान की तकरीबन 12500 बोरियों से भरे बिहार से आए 17 ट्रकों को काबू करके पंजाब की मंडियों में इस धान को बेचने की कोशिशें असफल कर दी हैं। इन ट्रकों को राजपुरा में शंभू के पास एक पेट्रोल पंप से काबू किया गया। यह जानकारी पंजाब के खाद्य एवं सिविल स्पलाई मंत्री श्री भारत भूषण आशु ने दी। उन्होंने बताया कि इन ट्रकों को काबू किये जाने के बाद एसपी विजीलैंस को जांच के लिए मौके पर बुलाया गया और इस सम्बन्ध में एफ.आई.आर दर्ज की गई है।
    खाद्य और सिविल स्पलाई मंत्री ने आगे बताया कि इसी बैरियर के द्वारा पंजाब में इससे पहले धान के 28 ट्रक आने की सूचना उनके ध्यान में आई थी। राज्य मंडी बोर्ड और खाद्य एवं सिविल स्पलाई विभाग में बढिय़ा तालमेल की वकालत करते हुए मंत्री ने कहा कि वह अंतरराज्यीय बैरियरों पर रिकार्ड रजिस्टर पर लदाई और उतराई के स्थानों को दर्ज कराने का मुद्दा मंडी बोर्ड के समक्ष लिखित रूप में उठाएंगे। रिकॉर्ड रजिस्टर पर यह एंट्रियांं ड्यूटी पर तैनात मंडी बोर्ड के कर्मचारियों की तरफ से होनी चाहीऐ और इसके बाद इसके विवरण रोज़मर्रा के आधार पर खाद्य एवं सिविल स्पलाई विभाग को भेजे जाने चाहिएं जिससे इसके सम्बन्ध में राज्य की खरीद एजेंसियों को जानकारी प्राप्त हो सके। उन्होंने कहा कि इससे राज्य की मीलों और मंडियों में आने वाले धान /चावलों पर नजऱ रखने में मदद मिलेगी और दूसरे राज्यों से पंजाब में ग़ैर -कानूनी धान /चावलों की स्पलाई से बचा जा सकेगा। इसके साथ ही जाली बिलिंग को रोकने में भी मदद मिलेगी।
    गौरतलब है कि एक महीने में पंजाब खाद्य एवं सिविल स्पलाई विभाग ने अलग -अलग छापेमारी के दौरान तकरीबन 2.5 लाख धान की बोरियाँ और पिछले साल की 2 लाख बोरियाँ चावलों को पकड़ा है जो साल 2018 -19 के खरीफ के मंडी सीजन के दौरान खपत की जानी थीं।

Leave a Reply