#दहशतगर्दों, अपराधियों के साथ संबंधों के बारे में झूठे आरोपों संबंधी आम आदमी पार्टी द्वारा कांग्रेस एवं शिरोमणी अकाली दल-भाजपा की निंदा

Punjab
By Admin

-अपराधियों के संबंध कांग्रेस व शिरोमणी अकाली दल के साथः वड़ैच

– ‘‘1984 की नसलकुशी वाले मामलों हेतु मोदी द्वारा गठित विशेष जांच टीम का प्रयोग कांग्रेसी व भाजपा नेताओं को बचाने के लिए किया गया’’

– वड़ैच द्वारा आलू उत्पादकों हेतु नैफ़ेड की ओर से भी ख़रीददारी व माल-किराये पर सबसिडी की मांग

चण्डीगढ़, 17 फ़रवरी –

आम आदमी पार्टी (आप) ने आज कांग्रेस एवं शिरोमणी अकाली दल – भारतीय जनता पार्टी द्वारा लगाए जा रहे आरोपों को रद्द कर दिया, जिनमें कहा जा रहा है कि आम आदमी पार्टी के सदस्यों के अपराधियों एवं दहशतगर्दों के साथ संबंध हैं तथा ‘आप’ ने यह भी आरोप लगाया कि नाभा जेल-काण्ड के मुख्य आरोपी सहित अपराधियों को शरण दी है।

आम आदमी पार्टी के राज्य संयोजक गुरप्रीत सिंह वड़ैच ने एक संवाददाता सम्मेलन में कहा कि पंजाब प्रदेश कांग्रेस समिति के अध्यक्ष कैप्टन अमरेन्द्र सिंह की यह आदत बन चुकी है कि पंजाब में चाहे कुछ भी घटित हो जाए, वह ‘आप’ का नाम ले देते हैं; जबकि आम आदमी पार्टी बार-बार यह स्पष्ट कर चुकी है कि आम आदमी पार्टी का कोई भी नेता किसी भी समाज-विरोधी गतिविधि में शामिल नहीं है। वड़ैच के साथ पार्टी के राज्य सचिव गुलशन छाबड़ा तथा मीडिया प्रकोष्ठ के सहायक-कोआर्डीनेटर मनजीत सिंह सिद्धु भी मौजूद थे।

उन्होंने कहा नाभा जेल तोड़ कर भागने वाला मुख्य आरोपी गुरप्रीत सेखों कांग्रेस के परिवार से संबंधित है तथा सेखों के सहयोगी विक्की गौन्दर को अपराध जगत में एक कांग्रेसी नेता लेकर आया था। उन्होंने कहा कि यह बात तो रेकार्ड पर है कि इन अपराधियों के पारिवारिक सदस्यों ने कांग्रेस पर उनके बच्चों को गुमराह करने के आरोप लगाए थे। उन्होंने ऐसे आरोपों की निंदा की कि आम आदमी पार्टी के किसी नेता ने कभी इन अपराधियों को शरण दी थी। उन्होंने दृढ़तापूर्वक कहा कि आम आदमी पार्टी का कोई भी पदाधिकारी कभी किसी अपराधी को शरण देने के मामले में शामिल नहीं रहा।

उन्होंने भाजपा के राज्य अध्यक्ष विजय सांपला द्वारा लगाए गए अर्थहीन आरोपों की सख़्त निंदा करते हुए कहा कि पंजाब में अपराधियों व दहशतगर्दों को वास्तव में कांग्रेस व शिरोमणी अकाली दल ने जन्म दिया है। उन्होंने कहा कि आम आदमी पार्टी सब कुछ स्पष्ट कर देगी। उन्होंने कहा कि इससे शिरोमणी अकाली दल-भाजपा गठबंधन व कांग्रेसी नेताओं की निराशा झलकती है।

वड़ैच ने आलूओं की कीमतें गिरने पर चिन्ता प्रकट करते हुए मांग की कि आलू उत्पादकों के हितों की रक्षा हेतु आलूओं की ख़रीद मार्कफ़ैड द्वारा नैफ़ेड की ओर से भी की जानी चाहिए। उन्होंने यह भी मांग की कि केन्द्र सरकार को आलू उत्पादकों को माल-भाड़े पर सबसिडी देनी चाहिए, ताकि किसान अपनी फ़सलें अन्य राज्यों व देशों को भेज सकें।

आम आदमी पार्टी के संयोजक ने कहा कि 1984 में सिक्खों की नसलकुशी से संबंधित मामलों की जांच हेतु प्रधान मंत्री द्वारा कायम की गई विशेष जांच टीम फ़िज़ूल सिद्ध हुई है तथा इसका उपयोग सिक्खों का कत्लेआम करने में सम्मिलित रहे कांग्रेसी व भाजपा नेताओं व अन्य अपराधियों को ‘क्लीन चिट’ देने हेतु की गई है। उन्होंने कहा कि दिल्ली में आम आदमी पार्टी की सरकार ने इस मामले की जांच हेतु पहले ही एक विशेष जांच टीम कायम कर दी थी परन्तु मोदी ने उसके स्थान पर ऐसी एक अन्य टीम का गठन कर दिया था। ऐसे कुल 59 मामलों में केवल 4 मामलों में ही आरोप-पत्र दाख़िल किए गए थे, जबकि 38 मामले बन्द कर दिए गए हैं। उन्होंने कहा कि कुल 350 एफ़.आई.आरज़ की जांच ही नहीं की गई, जिनमें कांग्रेसी व भाजपा नेताओं के नाम दिए गए हैं।

वड़ैच ने यह भी कहा कि चुनाव आयोग के कार्य-निष्पादन से आम आदमी पार्टी पूर्णतया संतुष्ट है तथा शांतिपूर्ण ढंग से चुनाव-प्रक्रिया संपन्न करवाने हेतु उन्होंने चुनाव आयोग को मुबारकबाद दी। उन्होंने कहा कि पंजाब में प्रशासकीय स्तर पर आम आदमी पार्टी ने कुछ ग़लतियों को उजागर किया था तथा चुनाव आयोग ने उन सभी ग़लतियों को सकारात्मक ढंग से ठीक कर दिया था। उन्होंने कहा कि आम आदमी पार्टी के कार्यकर्ता चौकस थे तथा स्टरौंग रूमज़ की प्रशासकी सुरक्षा में किसी भी प्रकार की कमी को वे सामने लाएंगे।

Leave a Reply