#एक बार इस्तीफा दिया तो वापिस नहीं लिया जा सकता

Punjab
By Admin

हाईकोर्ट ने कहा ऐसा कोई प्रावधान ही नहीं
अपडेट पंजाब
पंजाब एवं हरियाणा हाई कोर्ट के एक मामले में फैसला सुनाते हुए कहा है की अगर एक बार इस्तीफा दे दिया गया और अगर वो इस्तीफा सम्बंधित अथॉरिटी ने स्वीकार कर लिया तो उस इस्तीफे को वापिस लिए जाने का ऐसा कोई प्रावधान ही नहीं है। जस्टिस पी.बी. बजंतरी ने यह फैसला तरनतारन सिविल कोर्ट के एक कर्मी द्वारा दायर याचिका को खारिज करते हुए सुनाया है।
दायर याचिका में कर्मी जोकि कॉपिस्ट के तौर पर कार्यरत था ने फरवरी 2014 में अपने पद से इस्तीफा दे दिया था। मार्च 2014 में सम्बंधित अथॉरिटी ने उसका इस्तीफा स्वीकार कर लिया इसके तत्काल बाद ही जब याचिकाकर्ता का इस्तीफे स्वीकार कर लिया गया तो उसने बाद में अपने इस्तीफे की अर्जी को वापिस लिए जाने की मांग को लेकर एक अन्य अर्जी दे दी। इस्तीफे को वापिस लिए जाने की अर्जी सम्बंधित अथॉरिटी ने अक्टूबर 2014 में रद्द कर दी इसके बाद याचिकाकर्ता ने एक बार फिर अपने इस्तीफे को वापिस लेने की अर्जी दी जिसे की सितंबर 2019 में खारिज कर दिया गया।
याचिकाकर्ता के वकील का कहना था की याचिकाकर्ता ने कहा की याचिकाकर्ता का एक एक्सीडेंट हो गया था। जिसके कारण याचिकाकर्ता ने जल्दबाजी में इस्तीफा दे दिया था। बाद में उसे गलती का एहसास हुआ तो उसने अपना इस्तीफा वापिस लेने की मांग की थी। हाईकोर्ट ने याचिका को खारिज करते हुए कहा की एक बार इस्तीफा दे दिया गया और उसे सम्बिन्धित अथॉरिटी ने स्वीकार कर लिया तो ऐसा कोई प्रावधान ही नहीं है की इस्तीफा वापिस ले लिया जाये। लिहाजा किसी भी आधार पर इस्तीफा वापिस लेने की अर्जी को स्वीकार नहीं किया जा सकता है।

1 thought on “#एक बार इस्तीफा दिया तो वापिस नहीं लिया जा सकता

Leave a Reply